लाइव टीवी

CAA Protest: दिल्‍ली पुलिस ने शाहीन बाग और जाफराबाद से हटाए प्रदर्शनकारी, टेंट भी उखाड़े
Delhi-Ncr News in Hindi

Deepak Bisht | News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 10:23 AM IST
CAA Protest: दिल्‍ली पुलिस ने शाहीन बाग और जाफराबाद से हटाए प्रदर्शनकारी, टेंट भी उखाड़े
दिल्‍ली पुलिस ने 24 मार्च की सुबह को जेसीबी की मदद से शाहीन बाग में लगे टेंट भी उखाड़ दिए. (ANI)

CAA Protest: दक्षिण-पूर्व दिल्‍ली के DCP ने बताया कि शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से पहले हटने का आग्रह किया गया था. अनुरोध न मानने पर कार्रवाई की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 10:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्‍ली पुलिस ने शाहीन बाग में प्रदर्शन स्‍थल को खाली करवा दिया है. तीन महीने से भी ज्‍यादा समय के बाद वहां मौजूद सभी लोगों को मंगलवार को हटाया गया है. इसके अलावा वहां लगे टेंट भी उखाड़ दिए गए. इसके लिए जेसीबी का इस्‍तेमाल किया जा रहा है. इसके अलावा जाफराबाद में भी सड़क किनारे चल रहे CAA और NRC विरोधी धरना-प्रदर्शन को बंद करा दिया है. जानकारी के मुताबिक, वहां तकरीबन 20 प्रदर्शनकारी महिलाएं धरने पर बैठी थीं. यहां पर ड्रोन से भी निगरानी रखी जा रही है.

इससे पहले डीसीपी (साउथ ईस्ट दिल्‍ली) ने बताया कि शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में प्रदर्शनकारियों से कोरोना (Coronavirus) के कारण धरनास्थल से बाहर निकलने का अनुरोध किया गया था, लेकिन इस पर कोई अमल न होने पर पुलिस ने जगह को खाली कराने का कदम उठाया. हालांकि, लॉकडाउन के चलते प्रदर्शन स्थल पर कम लोग ही पहुंच रहे थे. जनता कर्फ्यू के दिन यहां पर सिर्फ तीन महिलाएं देखी गईं थीं. तीन महीने से भी ज्‍यादा वक्‍त के बाद इस रूट को खाली करवाया जा सका है. बता दें कि CAA और NRC के खिलाफ यहां महिलाएं प्रदर्शन कर रही थीं.

कुछ प्रदर्शनकारी हिरासत में
दक्षिण-पूर्वी दिल्‍ली के डीसीपी आरपी मीणा ने बताया कि शाहीन बाग में विरोध-प्रदर्शन कर रहे लोगों से वहां से हटने का अनुरोध किया गया था, लेकिन वे नहीं माने. इसके बाद गैरकानूनी तरीके से इकट्ठा होने के कानून की अवहेलना करने के मामले में कार्रवाई की गई. उन्‍होंने बताया कि प्रदर्शन स्‍थल को क्लियर कर दिया गया है और कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया है. मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मौके पर बड़ी तदाद में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है.



इससे पहले शाहीन बाग में स्थित धरनास्‍थल पर 22 मार्च को बाहरी लोगों के आने पर रोक लगा दी गई है. इसके लिए जगह-जगह पर बैरिकेडिंग भी की गई. इस पर लिखा था, 'रात 9 बजे के बाद प्रवेश होगा, धरना जारी है.'



बता दें कि कोरोना वायरस को थर्ड स्टेज में पहुंचने से रोकने के लिए अब केंद्र के साथ ही राज्य सरकार भी सख्त होती जा रही है. इसके चलते पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने राजधानी को 31 मार्च तक लॉकडाउन करने के आदेश दिए थे. अब लॉकडाउन (Lock Down) का पालन न होते देख हालात को काबू में करने के लिए दिल्ली पुलिस ने सख्ती बरती है.

दिल्ली पुलिस के अनुसार मंगलवार से धारा 144 सख्ती से लागू होगी. इस दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात की जाएगी.

जगह-जगह बेरिके‌डिंग

दिल्ली पुलिस अब लॉकडाउन को लेकर ज्‍यादा सख्ती करने जा रही है. जगह-जगह बेरिकेडिंग कर दी गई है. इसके साथ ही चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी गई है. वहीं बिना काम से घर से बाहर निकलने वाले लोगों पर अब कार्रवाई की जाएगी.

दिल्ली की सीमाएं भी सील

सोमवार से दिल्ली की सीमाएं भी सील कर दी गई हैं, जिसके चलते कोई भी ट्रक, बस या अन्य वाहन राजधानी में प्रवेश नहीं कर सकेगा. केवल अनिवार्य और आपातकालीन वस्तुओं को लाने वाले वाहनों को ही प्रवेश दिया जाएगा. रेलवे और मेट्रो की सेवाएं भी इस दौरान पूरी तरह से बंद रहेंगी. इसके साथ ही कंस्ट्रक्‍शन के सभी कामों पर रोक लगा दी गई है. सभी मंदिर व मस्जिद श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे.

 

ये भी पढ़ेंः लॉकडाउन को लेकर केजरीवाल सख्त, कहा- नहीं किया पालन तो कार्रवाई को तैयार रहें

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 7:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,000

     
  • कुल केस

    1,603,115

    +42
  • ठीक हुए

    356,422

     
  • मृत्यु

    95,693

    +1
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर