Delhi Police ने आज से शुरु किया ऑपरेशन ‘COW’ जानिए क्या है खास इस मुहिम में

दिल्ली पुलिस ने अभी सिर्फ एक पुलिस स्टेशन से ऑपरेशन Cow की शुरुआत की है.
दिल्ली पुलिस ने अभी सिर्फ एक पुलिस स्टेशन से ऑपरेशन Cow की शुरुआत की है.

ऑपरेशन कॉप्स ऑन व्हील्स (COW) का मकसद है कि जनता औऱ इलाके के लोगो से पुलिस फ़्रेंडली होकर मिले और अपराधियों (Criminal) में कानून का ख़ौफ़ कायम रहे. डीसीपी (DCP) आउटर नार्थ गौरव शर्मा इस पूरे ऑपरेशन को लीड कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2020, 7:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गली-मोहल्ले के अपराधियों (Crimanal) में भी पुलिस का खौफ रहे. आम जनता और पुलिस के बीच सीधे बातचीत हो, इसके लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने आज से ऑपरेशन कॉप्स ऑन व्हील्स (COW) शुरु किया है. शुरआती तौर पर इसे अभी आउटर नार्थ जिले के समयपुर बादली थाने से शुरु किया गया है. आज करीब 80 साइिकलों पर सवार होकर दिल्ली पुलिस के अफसर (Police Officer) और जवानों ने साइिकल पेट्रोलिंग की. जगह-जगह रुककर लोगों से बातचीत भी की. इस ऑपरेशन (Operation) का खास मकसद यह है कि पुलिस ज़्यादा से ज़्यादा वक्त दफ्तरों के बजाए फील्ड में जनता के बीच दे.

यह है ऑपरेशन COW की खासियत

ऑपरेशन COW कॉप्स ऑन व्हील्स मुहिम का मकसद है की रोजाना तय वक्त पर साइकिल पर सड़क और तंग गलियों से लेकर मोहल्लों में पुलिस गश्त करेगी. लोगो की समस्याओं को सुनेगी, इलाके के पार्कों, खेल ग्राउंड्स में एंटी सोशल एलीमेंट की गैरकानूनी गतिविधियों को रोकने का काम करेगी. यानी पुलिस थानों या दफ्तरों मे न बैठकर ज्यादा से ज्यादा वक्त सड़को पर जनता के बीच देगी. डीसीपी आउटर नार्थ गौरव शर्मा इस पूरे ऑपरेशन को लीड कर रहे हैं.



यह भी पढ़ें-हाथरस केस: पीड़िता की जांच करने वाले डॉक्टरों को नौकरी से निकाले जाने के खिलाफ एसोसिएशन ने खोला मोर्चा
आज ऐसे शुरु हुआ दिल्ली पुलिस का ऑपरेशन COW

दिल्ली पुलिस के आउटर नार्थ जिले के समयपुर बादली थाने से साइिकलों पर सवार होकर पुलिसकर्मी इलाके में गश्त के लिए निकल पड़े. करीब 80 पुलिस के जवान और अफसर साइिकलों पर सवार थे. डीसीपी, एसीपी और एसएचओ भी साइिकल पर ही गश्त करते नज़र आए.

इस दौरान अफसरों ने जगह-जगह रुककर जनता से बात की. उन्हें इस ऑपरेशन के बारे में भी बताया. भरोसा दिलाया कि यह ऑपरेशन इसलिए चलाया गया है कि आसानी से जनता पुलिस तक और पुलिस जनता तक पहुंच सके. साथ ही स्ट्रीट क्राइम पर खास फोकस रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज