लाइव टीवी

जामिया हिंसा: उपद्रवियों पर 10 से 20 हजार का इनाम घोषित करने की तैयारी में दिल्ली पुलिस

Anand Tiwari | News18Hindi
Updated: January 16, 2020, 11:23 AM IST
जामिया हिंसा: उपद्रवियों पर 10 से 20 हजार का इनाम घोषित करने की तैयारी में दिल्ली पुलिस
दिल्‍ली के जामिया इलाके में नागरिकता कानून के विरोध में हुए प्रदर्शन के बाद बसों में आग लगा दी गई. (File Photo)

Jamia Violence: डीसीपी (एसआईटी, क्राइम ब्रांच ) राजेश देव ने बताया कि जल्द ही इनाम की घोषणा कर दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2020, 11:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia millia islamia university) हिंसा में शामिल उपद्रवियों के खिलाफ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) एक बड़ा कदम उठाने जा रही है. पुलिस हिंसा में शामिल 20 लोगों के खिलाफ इनाम घोषित करने की तैयारी कर रही है. इनाम की रकम 10 से 20 हजार रुपये तक होगी. पुलिस का कहना है कि यह इनाम उन युवकों पर रखा जाएगा, जिनकी पहचान फोटो और सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से की गई है. डीसीपी राजेश देव (एसआईटी, क्राइम ब्रांच) का कहना है कि जल्द ही इनाम की घोषणा कर दी जाएगी. गौरतलब रहे कि जामिया की यह हिंसा संशोधित नागरिकता कानून और भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के विरोध में हुई थी. फिलहाल ये सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं.

पुलिस ने दर्ज किए थे दो मामले
जामिया में भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने दो केस दर्ज किए थे. पहला केस न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और दूसरा मामला जामिया नगर थाने में दर्ज किया गया था. पुलिस ने आगजनी, दंगा फैलाने, सरकारी संपत्ति को नुकसान और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के तहत केस दर्ज किया है.

दिल्ली पुलिस ने 10 युवकों को किया था गिरफ्तार

जामिया हिंसा में दिल्ली पुलिस ने 10 युवकों को गिरफ्तार किया था. पुलिस का कहना था कि सभी युवकों का आपराधिक रिकॉर्ड है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी कहा था कि गिरफ्तार किए गए लोगों में कोई भी छात्र नहीं है, लेकिन साथ ही यह भी कहा था कि छात्रों को अभी क्लीनचिट भी नहीं दी गई है और मामले की जांच की जा रही है.

छात्रों पर लगे थे यह आरोप
15 दिसम्बर को प्रदर्शनकारी हिंसा पर उतर आए और सराय जुलैना में तीन बसों में आग लगा दी गई थी. आग बुझाने के लिए दमकल विभाग की चार गाड़ियां मौके पर पहुंची थीं, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने दमकल एक गाड़ी में भी तोड़फोड़ की जिसमें एक फायरमैन को चोट लगी. इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस पर यूनिवर्सिटी के छात्रों पर लाठीचार्ज, यूनिवर्सिटी के अंदर घुसने और फायरिंग करने के आरोप लगे थे.जामिया VC का हुआ था घेरावFIR

तीन दिन पहले जामिया मिल्लिया के सैकड़ों छात्रों ने अपनी मांगों को लेकर कुलपति नजमा अख्तर का दफ्तर घेर लिया था. छात्र सुबह से ही कैम्पस में प्रदर्शन कर रहे थे. उनकी मांग थी कि परीक्षाओं का टाइम टेबल फिर से बनाया जाए, सुरक्षा मजबूत की जाए और 15 दिसंबर को कैम्पस में पुलिस लाठीचार्ज के मामले में एफआईआर दर्ज करवाई जाए. जिस पर वीसी ने उन्हें एफआईआर कराने का भरोसा दिया था और उसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय और पुलिस मुख्यालय जाकर वरिष्ठ अफसरों से बातचीत की थी.

ये भी पढ़ें- निर्भया कांड के दोषियों को फांसी देने से पहले बोला पवन जल्लाद- अब जीना मुश्किल हो गया

चार महिलाओं समेत कौन हैं वो 35 लोग जिन्हें होनी है फांसी, राष्ट्रपति भी लगा चुके हैं मुहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 10:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर