अपना शहर चुनें

States

दिल्ली हिंसा पीड़ितों के लिए नई मुसीबत बनी बारिश, राहत कैंपों में भरा पानी

राहत कैंपों पर आफत की बारिश
राहत कैंपों पर आफत की बारिश

पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बारिश (Rain) के चलते मुस्तफाबाद के राहत कैंपों (Relief Camps) में पानी भर गया है. इस बारिश ने दिल्ली सरकार के सारे दावों की भी पोल खोल दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 7, 2020, 10:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा के पीड़ितों के लिए मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अपना घर-बार छोड़कर आए लोगों पर अब कुदरत की भी मार पड़ी है. पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते मुस्तफाबाद के राहत कैंपों में पानी भर गया है. इस बारिश ने दिल्ली सरकार के सारे दावों की भी पोल खोल दी है.

दरअसल मुस्तफाबाद के कैंपों में काफी ज्यादा संख्या में हिंसा प्रभावित लोग शरण लिए हुए थे. एक बेहतरी की तलाश में आए लोगों को इन राहत कैंपों ने और ज्यादा निराश कर दिया. राहत कैंपों के अंदर बारिश का पानी आने से हिंसा पीड़ित न बैठ पा रहे हैं और न ही सो पा रहे हैं. हिंसा पीड़ितों की जिंदगी तो बारिश ने और भी ज्यादा मुश्किलों से भर दिया है.

दिल्ली सरकार ने हिंसा पीड़ितों के लिए मुस्तफाबाद में राहत कैंप बनवाए हैं. ये राहत कैंप कपड़े के टेंट के बने हुए, जो पूरी तरह से वाटरप्रूफ नहीं हैं. लिहाजा गुरुवार रात और शुक्रवार को हुई बारिश का पानी कैंपों के अंदर चला गया. कई टेंटों की छत से भी पानी टपक रहा है. इसके चलते हिंसा पीड़ितों के कपड़े और बिस्तर भी गीले हो गए.



राहत कैंपों में पीड़ितों की जिंदगी हुई मुश्किल
दिल्ली सरकार के अलावा गैर-लाभकारी सरकारी संगठनों ने हिंसा पीड़ितों के लिए दवाओं, कंबल, बिस्तर और कपड़े की व्यवस्था की है. हालांकि ये पर्याप्त नहीं हैं. इसकी वजह यह है कि राहत कैंपों में काफी संख्या में लोग शरण लिए हुए हैं.

उस्मानपुर के राहत कैंपों में नहीं पहुंचे हिंसा पीड़ित
मुस्तफाबाद के अलावा दिल्ली सरकार ने उस्मानपुर में भी राहत कैंप बनाए हैं, लेकिन हैरानी की बात यह है कि यहां कोई भी हिंसा पीड़ित नहीं पहुंच रहा है. जब आजतक की टीम कैंप नंबर 225 पहुंची, तो वहां सिर्फ तीन लोग ही मिले और वो भी हिंसा पीड़ित नहीं थे. यही हाल कैंप नंबर 202 का भी रहा.

ये भी पढ़ें: 

दिल्ली चुनाव पर BJP का आंतरिक आकलन- दलितों और सिखों का नहीं मिला साथ

Delhi Violence: ताहिर हुसैन को कोर्ट ने 7 दिनों की पुलिस रिमांड पर भेजा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज