Home /News /delhi-ncr /

साकेत कोर्ट से शरजील को लगा झटका, CAA-NRC के खिलाफ भड़काऊ भाषण मामले में जमानत याचिका खारिज

साकेत कोर्ट से शरजील को लगा झटका, CAA-NRC के खिलाफ भड़काऊ भाषण मामले में जमानत याचिका खारिज

साकेत कोर्ट ने भड़काऊ भाषण मामले में शरजील की जमानत याचिका खारिज कर दी है.

साकेत कोर्ट ने भड़काऊ भाषण मामले में शरजील की जमानत याचिका खारिज कर दी है.

Sharjeel Imam Bail Plea Dismissed: दिल्‍ली के साकेत कोर्ट ने सीएए और एनआरसी (CAA-NRC) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने के मामले में शरजील इमाम की जमानत याचिका खारिज कर दी है.

नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्‍ली के साकेत कोर्ट ने सीएए (Citizenship Amendment Act) और एनआरसी (National Register of Citizens) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान कथित भड़काऊ भाषणों से जुड़े एक मामले में जेएनयू छात्र शरजील इमाम (Sharjeel Imam) की जमानत याचिका खारिज कर दी है. जेएनयू के छात्र को राजद्रोह तथा गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है.

बता दें कि जेएनयू छात्र शरजील पर आपराधिक साजिश, राष्ट्रद्रोह और धर्म के आधार पर समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने का आरोप है. वहीं, दिल्ली पुलिस द्वारा इमाम पर भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए, 153 ए और 505 के तहत मामला दर्ज किया है. इसके अलावा असम पुलिस ने भी भाषणों को लेकर उसके खिलाफ आतंकवाद रोधी कानून यूएपीए के तहत एक मामला दर्ज किया है. जबकि शरजील इमाम को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने इसी साल 28 जनवरी को बिहार के जहानाबाद के काको थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया था.

शरजील के वकील ने दी थी ये दलील
हालांकि शरजील के वकील तनवीर अहमद मीर ने कोर्ट से कहा था कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने पर गिरफ्तार किए गए जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम पर राजद्रोह का आरोप नहीं लगाया जा सकता, क्योंकि उन्होंने भाषण में हिंसा करने के लिए नहीं कहा था. वकील ने कहा, ‘ जब शरजील इमाम ने कहा कि कानून का यह हिस्सा (CAA/NRC) असंवैधानिक है, मांग की कि सरकार इस पर पुन:विचार करे और कहा कि यदि आप ऐसा नहीं करेंगे तो हम सड़कों पर उतर आएंगे, ऐसा कहने पर उन पर राजद्रोह का मामला नहीं बनता है.

इसके साथ शरजील के वकील ने कोर्ट में दलील दी कि विरोध का अधिकार, नाकाबंदी का अधिकार और देश को ठप करने का अधिकार राजद्रोह के समान नहीं है. मीर ने कहा, ‘भाषण में हिंसा करने को नहीं कहा गया. उन्होंने केवल सड़कें अवरूद्ध करने को कहा. उन्होंने यह नहीं कहा कि पूर्वोत्तर को अलग राज्य बनाया जाना चाहिए और स्वतंत्र घोषित करना चाहिए. राजद्रोह यह होता.’

Singhu Border: लखबीर को सरबजीत ही लेकर आया था सिंघु बॉर्डर, जानें कैसे रईस बनने की चाहत रखने वाला बना निहंग

कौन है शरजील इमाम?
शरजील इमाम बिहार के जहानाबाद के काको का रहने वाला है. जबकि उसके पिता अकबर इमाम जेडीयू के नेता रहे हैं. वहीं, वह इस वक्‍त जवाहरलाल नेहरू विश्विद्यालय में मॉडर्न इंडियन हिस्ट्री के छात्र है. इससे पहले वह आईआईटी मुंबई से कंप्यूटर साईंस में ग्रेजुएशन कर चुका है. फिलहाल शरजील का परिवार पटना में रहता है.

Tags: CAA-NRC, Delhi Court, Delhi police, Former JNU student, Jnu, Sharjeel Imam, Sharjeel Imam Bail

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर