अपना शहर चुनें

States

दिल्‍ली के सरोजिनी नगर मार्केट में अधिकांश बिना मास्‍क के दिखे, बोले- कोरोना वायरस है ही नहीं

लोग बरत रहे हैं लापरवाही. (File pic)
लोग बरत रहे हैं लापरवाही. (File pic)

सीएनएन-न्यूज18 की टीम ने कुछ ऐसे दुकानदारों से बात की जो बिना मास्‍क के थे. उनमें से एक ने कहा, 'जब कस्‍टमर ही मास्‍क नहीं पहनते तो हम क्‍यों पहनें? जब कस्‍टमर भी सारी सावधानी बरतेगा तब हम भी बरतेंगे.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 5:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के 16 राज्‍यों में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) लगातार बढ़ रहा है. दिल्‍ली (Delhi Covid 19) में भी कोविड 19 के मामलों में 4.7 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. इन सबके बावजूद क्‍या दिल्‍ली में लोग कोविड 19 के रक्षा उपायों का इस्‍तेमाल कर रहे हैं. इस सवाल का जवाब जानने के लिए सीएनएन-न्‍यूज18 की टीम ने दिल्‍ली के सबसे व्‍यस्‍त मार्केट में से एक सरोजिनी नगर मार्केट (Sarojini nagar market) का दौरा किया.

दिल्‍ली के सरोजिनी नगर मार्केट में अधिकांश लोग बिना मास्‍क के ही दिखे. वहां के कई दुकानदार भी बिना मास्‍क पहने ही मिले. दिल्‍ली के लोगों के अंदर मास्‍क पहनने का डर बस 2000 रुपये के चालान से बचने के समय देखा जा रहा है. सीएनएन-न्यूज18 की टीम ने कुछ ऐसे दुकानदारों से बात की जो बिना मास्‍क के थे. उनमें से एक ने कहा, 'जब कस्‍टमर ही मास्‍क नहीं पहनते तो हम क्‍यों पहनें? जब कस्‍टमर भी सारी सावधानी बरतेगा तब हम भी बरतेंगे.'





वहीं दूसरे दुकानदार ने कहा, 'हम मास्‍क इसलिए नहीं पहनते हैं क्‍योंकि कोरोना वायरस कहीं है ही नहीं. यह काल्‍पनिक है. हमें अथॉरिटीज के जरिये डराया और भटकाया गया है. मुझे मास्‍क पहनने का सिर्फ एक औचित्‍य नजर आता है, वो है चालान से बचने का.'

वहीं इन सब पर वॉलंटियर मार्केट प्रसिडेंट ओमदत्‍त शर्मा ने कहा कि यह काफी दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि मार्केट के कुछ सदस्‍य अहंकारी और लापरवाह हैं. मैं रोजाना अपनी जेब में 4 से 5 मास्‍क लेकर चलता हूं. किसी के पास नहीं होत है तो मैं उसे मास्‍क देता हूं. मैं चाहता हूं मार्केट सुरक्षित स्‍थान रहे. न कि ये कंटनमेंट जोन बने.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज