Assembly Banner 2021

कोविड वैक्सीनेशन दूसरा फेज: टीका लगवाकर बुजुर्गों ने कहा- सुरक्षित महसूस कर रहे हम

दिल्ली के राजीव गांधी अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगवाते हुए एक बुजुर्ग

दिल्ली के राजीव गांधी अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगवाते हुए एक बुजुर्ग

राजीव गांधी अस्पताल में कोविड वैक्सीन (Covid Vaccine) लगवाने के बाद बुजुर्गों ने कहा कि उन्हें ठीक महसूस हो रहा है. कोई दिक्कत नहीं है. टीके को लेकर मन में कोई शंका नहीं थी. प्रधानमंत्री के टीका लगवाने पर सुभाष चंद त्यागी ने कहा कि उन्होंने टीका लगवाया, जो अच्छा है. उन्हें पहले लगवाना चाहिए था. पीएम के टीका लगवाने से भरोसा बढ़ता है

  • Share this:
नई दिल्ली. सोमवार एक मार्च से देश भर में कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) का दूसरा चरण शुरू हुआ है. इस चरण में 60 वर्ष उम्र से ऊपर के साथ-साथ 45 साल से ऊपर वो लोग जो 20 तरह की गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं उनको टीका लगाए जाने की शुरुआत हुई. सुबह इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने खुद से की, उन्होंने एम्स जाकर टीका लगवाया. दूसरे चरण के टीकाकरण में दिन चढ़ने पर दिल्ली के अस्पतालों में लोग टीका लगवाने के लिए पहुंचने लगे. दिल्ली (Delhi) के राजीव गांधी अस्पताल में ऐसे कई लोग नजर आए जो बिना किसी शंका के टीका (Vaccination Second Phase) लगवा कर सुरक्षित महसूस कर रहे थे.

राजीव गांधी अस्पताल में 60 वर्ष से ऊपर की कैटगरी में आने वाले दिलशाद गार्डन इलाके के बुजुर्ग सुभाष चंद त्यागी भी टीका लगवाने पंहुचे. उन्होंने कहा कि यह अच्छा है. टीका लगने के बाद ठीक महसूस हो रहा है. कोई दिक्कत नहीं है. टीके को लेकर मन में कोई शंका नहीं थी. प्रधानमंत्री के टीका लगवाने पर सुभाष चंद त्यागी ने कहा कि उन्होंने टीका लगवाया, जो अच्छा है. उन्हें पहले लगवाना चाहिए था. पीएम के टीका लगवाने से भरोसा बढ़ता है.

'किसी को टीका से नहीं डरना चाहिए, वैक्सीन से फायदा होगा'



राजीव गांधी अस्पताल में ही मुखर्जी नगर में रहने वाले एक बुजुर्ग दंपति वैक्सीन लगवाने पंहुचे. राजीव गुप्ता ने कहा कि मन में कोई शंका नहीं थी क्योंकि कई दिनों से लोगों को वैक्सीनेशन हो रहा है. हमने पहले अपॉर्चुनिटी पर वैक्सीन लगवाने की योजना बनाई. टीका लगवाने के बाद सहज महसूस कर रहे हैं और आत्मविश्वास भी बढ़ गया है. वहीं राजीव गुप्ता की पत्नी कविता गुप्ता भी टीका लगवाकर उत्साहित नजर आईं. उन्होंने कहा कि हम दोनों ने पहले से तय किया था कि पहले दिन टीका लगवायेंगे. किसी के मन में कोई शंका नहीं थी. किसी को भी वैक्सीन से नहीं डरना चाहिए, वैक्सीन से फायदा ही होगा.
दिल्ली के कुल 192 अस्पतालों में दूसरे फेज का यह वैक्सीनेशन शुरू हुआ जहां सोमवार को लोग कोरोना का टीका लगवाने पहुंचे. बता दें कि 136 प्राइवेट अस्पताल हैं जहां वैक्सीन के पैसे चुकाने होंगे. यहां प्रति डोज अधिकतम 250 रूपया, यानी दो डोज के अधिकतम 500 रूपये देने होंगे. जबकि 56 सरकारी अस्पताल हैं जहां यह टीके मुफ्त लगाए जाएंगे. सरकारी केंद्रों पर कोई भी व्यक्ति (60 वर्ष से ऊपर या 20 तरह की बीमारियों से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक उम्र का) टीका लगवा सकेगा. टीका लगवाने वाले की मर्जी होगी कि वो सरकारी में लगवाना चाहता है या प्राइवेट अस्पताल में. यह टीकाकरण अभियान हफ्ते में छह दिन चलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज