Home /News /delhi-ncr /

Delhi Air Pollution: दिल्‍ली में प्रदूषण ने तोड़ा रिकॉर्ड! केजरीवाल सरकार आज करेगी हाई लेवल मीटिंग

Delhi Air Pollution: दिल्‍ली में प्रदूषण ने तोड़ा रिकॉर्ड! केजरीवाल सरकार आज करेगी हाई लेवल मीटिंग

दिल्‍ली में नवंबर महीने में रिकॉर्ड 11 दिन सबसे अधिक प्रदूषित हवा दर्ज की गई है.

दिल्‍ली में नवंबर महीने में रिकॉर्ड 11 दिन सबसे अधिक प्रदूषित हवा दर्ज की गई है.

Delhi Air Pollution: दिल्‍ली की हवा की गुणवत्ता ( Delhi Air Quality) लगातार 'खराब' श्रेणी में बनी हुई है. इस वजह से सांस लेना मुश्किल है. वहीं, दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण की स्थिति की समीक्षा के लिए आज उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है. इस दौरान प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए कुछ और कदम उठाए जाने की संभावना है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्ली में इस नवंबर में वायु प्रदूषण ने कोहराम मचा रखा है. इस बीच दिल्‍ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण (Air Pollution) की स्थिति की समीक्षा के लिए आज यानी सोमवार को उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है. इस बैठक के दौरान मंत्री संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों से प्रदूषण की स्थिति की जानकारी लेंगे और मौजूदा समय में दिल्ली में ट्रक के प्रवेश और निर्माण कार्यों पर रोक के अलावा और क्या कदम उठाए जा सकते हैं, इस पर विचार विमर्श करेंगे.

    वहीं, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, पिछले वर्षों तुलना में इस साल नवंबर में दिल्ली में सबसे अधिक प्रदूषित हवा दर्ज की गई है. शहर में 11 दिन ‘गंभीर’ प्रदूषण रहा है. इससे पहले 2020 में यह नौ दिन और 2019 में सात दिन रहा था. सीपीसीबी के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में इस साल नवंबर में एक भी दिन हवा की गुणवत्ता ‘ मध्‍यम’ श्रेणी में दर्ज नहीं की गई है.

    वहीं, दिल्ली में सोमवार सुबह भी वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई है. इस दौरान आनंद विहार में AQI 554, तो बवाना में 421, जहांगीरपुरी में 422 समेत दिल्‍ली के सभी इलाकों में यह 350 के ऊपर दर्ज किया गया है. जबकि शनिवार को ओवरऑल AQI 400 से ऊपर था. इसके अलावा नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद में भी प्रदूषण का कहर जारी है.

    सफर ने किया यह दावा
    वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के अनुसार राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता खराब स्थिति में बनी हुई है. 29 और 30 नवंबर को जमीनी सतह पर हवाएं थोड़ा तेज होंगी. इसकी वजह से प्रदूषण स्तर में कुछ कमी आएगी. लेकिन 1 और 2 दिसंबर को हवाओं की गति के साथ तापमान में भी कमी आएगी, जिसकी वजह से प्रदूषण स्तर में फिर इजाफा हो सकता है. वहीं, आईआईटीएम पुणे के अनुसार राजधानी में प्रदूषण इस समय गंभीर स्थिति में बना हुआ है. दिन के समय हवाएं कमजोर स्थिति में रही. 29 व 30 नवंबर को हवाओं की गति तेज होगी, इससे प्रदूषण स्तर में कमी आ सकती है, लेकिन यह बेहद खराब स्थिति पर ही रहेगा.

    उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट भी दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में वायु प्रदूषण को लेकर दायर जनहित याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा. दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुरूप गुरुवार को राष्ट्रीय राजधानी में निर्माण कार्य और ढहाने संबंधी गतिविधियों पर दोबारा रोक लगा दी थी.

    Tags: Air pollution, Air Pollution AQI Level, Air pollution delhi, Air pollution in Delhi, Air quality index, Delhi air pollution, NCR Air Pollution

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर