Home /News /delhi-ncr /

दिल्‍ली में कोविड प्रतिबंध हटाने की मांग, व्‍यापारियों ने एलजी को लिखी चिठ्ठी

दिल्‍ली में कोविड प्रतिबंध हटाने की मांग, व्‍यापारियों ने एलजी को लिखी चिठ्ठी

व्‍यापारियों ने दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल को कोविड प्रतिबंधों में राहत के लिए पत्र ि‍लिखा है.

व्‍यापारियों ने दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल को कोविड प्रतिबंधों में राहत के लिए पत्र ि‍लिखा है.

दिल्‍ली के व्‍यापारियों का कहना है कि पिछले 20 दिनों के दौरान यानी 1 जनवरी से 20 जनवरी तक, कोविड प्रतिबंधों के कारण दिल्ली के व्यापार में लगभग 60% की कमी आई है. दिल्ली का व्यापार पिछले दो साल से गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. राजधानी दिल्‍ली में कोरोना के मामलों के घटने के बाद व्‍यापारियों ने कोरोना प्रतिबंधों को हटाने की मांग की है. साथ ही दिल्‍ली के उपराज्‍यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखकर नाइट कर्फ्यू को न हटाने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग की है. कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स एसोसिएशन की ओर से भेजे गए पत्र में कहा गया है कि जब कोविड वायरस का संक्रमण हर दिन कम हो रहा है, जैसा कि दिल्ली सरकार द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में साफ दिखाई दे रहा है तो नियमों में ढील क्‍यों नहीं दी जा रही.

    कैट ने पत्र में लिखा, ‘हम व्‍यापरी दिल्ली के व्यापार की जर्जर स्थिति की ओर आपका ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं, जो कोरोना प्रतिबंधों से बुरी तरह प्रभावित हुआ है. हम आपसे अनुरोध करते हैं कि ऑड-ईवन सिस्टम और वीकेंड लॉकडाउन को ऐसे समय में रद्द न करने की अनुमति के निर्णय पर पुनर्विचार करें. कल जारी दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के अनुसार कोविड घटकर 21% हो गया है, हालांकि यह पिछले दिनों में 30% तक चला गया था. ‘

    व्‍यापारियों ने आगे कहा कि पिछले 20 दिनों के दौरान यानी 1 जनवरी से 20 जनवरी तक, कोविड प्रतिबंधों के कारण दिल्ली के व्यापार में लगभग 60% की कमी आई है. दिल्ली का व्यापार पिछले दो साल से गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है. व्यापारियों की पूरी जमा पूंजी खत्म हो गई है क्योंकि धन का निरंतर बहिर्वाह हो रहा है और धन की आमद हर गुजरते दिन के साथ कम हो रही है जबकि व्यापारी अनिवार्य रूप से सभी कर और अन्य प्रतिमा दायित्वों का पालन कर रहे हैं. व्यापारिक समुदाय वर्तमान में कारोबार के सबसे बुरे दिन देख रहा है.

    कैट की ओर से एलजी को सुझाव भी दिए गए हैं. जिनमें ऑड-ईवन सिस्टम और वीकेंड लॉकडाउन को हटाने के लिए कहा गया है. गैर-टीकाकृत व्यक्तियों को अपने स्वयं के हित और दूसरों के हित को देखते हुए अपने घरों से बाहर नहीं निकलने देना चाहिए. व्यापार संघों को अपनी दुकानों में अनिवार्य रूप से कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा जा सकता है, जो वे पहले से ही कर रहे हैं. बाजार में आगंतुकों के नियमन को सुनिश्चित करने के लिए व्यापार संघों के सहयोग से स्थानीय प्रशासन की प्रतिनियुक्ति की जा सकती है और प्रत्येक बाजार में दोनों द्वारा संयुक्त रूप से खरीदारों की पर्याप्त जांच सुनिश्चित की जानी चाहिए.

    इसके साथ ही बाजारों के काम के घंटे सुबह 10.00 बजे से शाम 5 बजे तक निर्धारित किए जा सकते हैं. डाइनिंग वाले होटल और रेस्तरां को कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल के रखरखाव के साथ 50% क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति दी जा सकती है. टीकाकरण न कराने वाले व्यक्तियों को किसी भी रेस्तरां में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. हम दिल्ली के व्यापार संघों के सभी सहयोग का आश्वासन देते हैं. व्‍यापारियों का कहना है कि अर्थव्यवस्था के अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आर्थिक गतिविधियों को भी संचालित करने की अनुमति दी जानी चाहिए. कैट ने एलजी से मिलने के लिए भी समय मांगा है.

    Tags: Confederation of All India Traders, Covid Protocol, Lockdown, Odd-Even

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर