Home /News /delhi-ncr /

delhi triple suicide family learned to convert house into gas chamber from youtube forensic report nodvm

Delhi Triple Suicide: YouTube से सीखा था सुसाइड का तरीका, 10 पेज का सुसाइड नोट मिला

परिवार ने कार्बोमोनोआक्साइड से आत्महत्या करने का यह खौफनाक तरीका यूट्यूब पर सीखा था.

परिवार ने कार्बोमोनोआक्साइड से आत्महत्या करने का यह खौफनाक तरीका यूट्यूब पर सीखा था.

Delhi triple suicide: फोरेंसिक टीम ने आज कई घंटे तक घर का मुआयना किया और अब वे जल्द मिले सबूत के सैंपल के आधार पर रिपोर्ट तैयार करेंगे. फोरेंसिक टीम के मुताबिक, आत्महत्या करने का ये प्लान शायद ही पहले दिल्ली में किसी ने अपनाया होगा. कहा जा रहा है कि जिस तरह घर में जहरीली गैस फैली थी, उसके मुताबिक, महज 10 मिनट के अंदर ही तीनों की जान निकल गई होगी. घर के अलग-अलग कोने से पुलिस को 10 पेज का सुसाइड नोट मिला है. घर में घुसते ही एक पेज पर चेतावनी लिखी थी, कि तीन महीने से आत्महत्या की तैयारी कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली.  दिल्ली के बंसत विहार मां और दो बेटियों के आत्महत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. जानकारी के मुताबिक, परिवार ने कार्बोमोनोऑक्साइड से आत्महत्या करने का यह खौफनाक तरीका यूट्यूब पर सीखा था. मां और दोनों बेटियां नींद की दवाई लेकर सोई थी, जिससे आसानी से दम निकल जाए और मौत के वक्त वे ज्यादा तड़पे और चिल्लाए नहीं.  फोरेंसिक टीम की डायरेक्टर दीपा वर्मा और HOD संजीव गुप्ता की टीम भी घर के अंदर की हालत देखकर हैरान रह गई थी.

फोरेंसिक टीम ने आज कई घंटे तक घर का मुआयना किया और अब वे जल्द मिले सबूत के सैंपल के आधार पर रिपोर्ट तैयार करेंगे. फोरेंसिक टीम के मुताबिक, आत्महत्या करने का ये प्लान शायद ही पहले दिल्ली में किसी ने अपनाया होगा. कहा जा रहा है कि जिस तरह घर में जहरीली गैस फैली थी, उसके मुताबिक, महज 10 मिनट के अंदर ही तीनों की जान निकल गई होगी. घर के अलग-अलग कोने से पुलिस को 10 पेज का सुसाइड नोट मिला है. घर में घुसते ही एक पेज पर चेतावनी लिखी थी कि तीन महीने से आत्महत्या की तैयारी कर रहे हैं.

suicide case

Delhi triple suicide,delhi suicide case, gas chamber, youtube, vasant vihar suicide news,forensic report, delhi crime news,फोरेंसिक टीम, वंसत विहार सुसाइड केस, दिल्ली ट्रिपल आत्महत्या मामला , suicide in depression, home made gas chamber, mother and two daughters commit suicide, मां-बेटी ने की आत्महत्या, दिल्ली पुलिस

घर से कई मेडिकल पर्ची मिली है , जो इशारा करती है की परिवार किस हद तक मानसिक तौर पर अवसाद में था. आत्महत्या से दो दिन पहले पूरी तैयारी की गई थी और उसके लिए ऑनलाइन वेबसाइट अमेजन से सामान मंगवाया गया था.  जिसमें अगीठी फाइल पेपर टेप्स कोयला भी शामिल था. घर की एक डायरी में इन तमाम बातों का जिक्र है. पुलिस के मुताबिक, इस घर का मुखिया जिसकी कोरोना में मौत हो गई थी  उमेश मैनपुरी के रहने वाले थे.  शादी के बाद वह 1979 में मंजू के साथ दिल्ली आ गए थे.  शुरुआत में उमेश किराए पर रहे फिर मंजू की मां ने 1994  में  वसंत विहार का घर उन्हें दे दिया.

पड़ोसियों ने बताया कि दिल्ली आने के बाद उमेश निजी नौकरी करते थे. साथ ही उमेश ही घर का सारा काम भी किया करते थे. वह खुद दोनों बेटियों को स्कूल से लेकर आते और छोड़ कर आते थे. उनकी जरूरत का सारा सामान भी वह खुद ही लाकर देते थे, जिसके चलते परिवार का पड़ोस के लोगों के साथ ज्यादा उठना बैठना नहीं था. पड़ोसियों ने बताया कि कोरोना के दौरान परिवार की आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी, उसके बाद 2021 में उमेश की मौत हो गई.

पड़ोसियों ने चंदा जमा करके उसका अंतिम संस्कार कराया था और अंकिता ने ही उसके शव को मुखाग्नि दी थी.  इसके अलावा 19 मई को अंकिता ने आत्महत्या के लिए सामान मंगवाया था और 20 मई को ही दूध वाले से आगे से दूध लाने के लिए मना कर दिया था. परिवार की दोनो बेटियां केवल मेड कमला से ही बात करती थी इसलिए सुसाइड नोट में घरेलू सहायिका कमला का नाम भी लिखा है.

इसमें बताया गया है कि उनकी मौत के बाद घर में मौजूद जरूरत का सारा सामान कमला को दे दिया जाए. अगर वह सामान न ले तो यह सामान किसी भी गरीब व्यक्ति जो इस्तेमाल कर सके उसे दे दिया जाए. पिछले करीब डेढ़ साल ने मंजू बीमारी थी और वह बिस्तर से खड़ी तक नहीं हो पाती थी. मंजू बिस्तर पर ही दैनिक कार्य करती थी। इसके अलावा अंकिता की भी तबीयत खराब चल रही थी. डॉक्टर ने उसकी एंडोस्कोपी करवाने के लिए बोला था. लेकिन पैसों की तंगी के चलते उसका उपचार नहीं हो पा रहा था, जिससे अंशुता परेशान थी. मां और  अंकिता की दवाईयों के लिए भी अंशुता के पास पैसे नहीं बचे थे. वह अपने कई जानकारों से पैसे मांग चुकी थी, लेकिन कोई भी उधार देने के लिए तैयार नहीं थे.

Tags: Crime News, Delhi news, Suicide Case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर