दिल्ली: कोर्ट में जरूरी मामलों में ही 31 अक्टूबर तक होगी VC से सुनवाई, कैदियों का पैरोल भी बढ़ा
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली: कोर्ट में जरूरी मामलों में ही 31 अक्टूबर तक होगी VC से सुनवाई, कैदियों का पैरोल भी बढ़ा
कोरोना संक्रमण को देखते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने निर्णय लिया है.

कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण से बचने के लिए दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने एक जरूरी आदेश दिया है. इस आदेश के अनुसार अब गैर जरूरी मामलों की सुनवाई 31 अक्टूबर के बाद ही होनी संभव है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2020, 12:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच हाई कोर्ट (High Court) का एक बड़ा निर्णय आया है. हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि दिल्ली एचसी (HC) और सभी निचली अदालत में केवल जरूरी मामलों पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) के जरिये 31 अक्टूबर तक सुनवाई होगी. इतना ही नहीं दिल्ली हाई कोर्ट के अपने आदेश में कहा कि जो कैदी पैरोल पर जेल से बाहर थे, उनका भी 31 अक्टूबर तक पैरोल बढ़ा दिया जाए. बताया जा रहा है कि देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए ऐतिहातन ये निर्णय लिया गया है. यानी कि गैर जरूरी मामलों में अब सुनवाई 31 अक्टूबर के बाद ही संभव है.

दिल्ली हाई कोर्ट की चीफ जस्टिस डीएन पटेल, जस्टिस श्रीधल मृदुल, जस्टिस तलवन्त सिंह की  डिवीजन बेंच ने ये फैसला लिया है. बता दें कि कोरोना वायरस का मामला इस साल जैसे ही सामने आया था उसके बाद से दिल्ली हाई कोर्ट समेत सभी निचली अदालत में केवल जरूरी मामलों पर ही सुनवाई हो रही है. बाकी मामलों में तारीख दे दी जाती है.

दिल्ली हिंसा मामले की सुनवाई भी टली
दिल्ली हिंसा मामले पर दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई टल गई है. अब 17 सितंबर को मामले में अगली सुनवाई होगी. दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डीएन पटेल ने कहा कि पहले जामिया हिंसा याचिका पर सुनवाई होगी. फिर दिल्ली हिंसा पर सुनवाई करेंगे. सोमवार को मामले में ये निर्देश दिए गए हैं. इस आदेश के बाद अब सुनवाई के लिए 17 सितंबर तक का इंतजार करना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज