लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा: IB अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार को एक करोड़ का मुआवजा देगी AAP सरकार
Delhi-Ncr News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 2, 2020, 3:15 PM IST
दिल्ली हिंसा: IB अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार को एक करोड़ का मुआवजा देगी AAP सरकार
अंकित शर्मा का शव 26 फरवरी को चांदबाग में नाले से मिला था.

आईबी अधिकारी अंकित शर्मा (Ankit Sharma) के परिवार को आम आदमी पार्टी की सरकार एक करोड़ रुपए देगी. इसकी घोषणा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की है.

  • Share this:
नई दिल्ली: दिल्ली हिंसा (Delhi violence) में मारे गए इंटेलिजेंस ब्यूरो (Intelligence Bureau) के अधिकारी अंकित शर्मा (Ankit Sharma) के परिवार को आम आदमी पार्टी की सरकार एक करोड़ रुपए देगी. इसकी घोषणा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की है. उन्होंने कहा कि हम इंटेलिजेंस ब्यूरो के अधिकारी अंकित शर्मा के परिवार के लिए एक करोड़ रुपये के मुआवजे की घोषणा कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि उनके परिवार के एक सदस्य को दिल्ली सरकार द्वारा नौकरी भी दी जाएगी.

बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली के चांद बाग इलाके में फैली हिंसा में आईबी अधिकारी अंकित शर्मा मारे गए थे. उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर चाकू के कई निशान मिले थे. अकिंत शर्मा के पेट और सीने पर धारदार हथियार से कई वार किए गए थे. पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों का कहना था उनकी बेरहमी से हत्या की गई.





अकिंत शर्मा की हत्या का आरोप आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन पर लगा है. गुरुवार को उनके खिलाफ हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का मामला दर्ज किया गया. दिल्ली पुलिस ने ताहिर हुसैन के चांदबाग में स्थित घर और खजूरी खास स्थित फैक्ट्री को सील कर दिया है.

सोमवार को अंकित शर्मा मिला था शव
सोमवार को हिंसाग्रस्त चांदबाग इलाके से इंटेलिजेंस ब्‍यूरो के अधिकारी अंकित शर्मा का शव बरामद किया गया था. बता दें कि दिल्ली पुलिस द्वारा ताहिर हुसैन के खिलाफ लिए गए एक्शन के बाद आम आदमी पार्टी ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था. सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जो भी दोषी हो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

ताहिर हुसैन ने किया आरोपों से इनकार
वहीं, इस मामले में ताहिर हुसैन ने न्यूज़ 18 से बातचीत में कहा था, 'अगर पुलिस मुझे गिरफ्तार करने के लिए आती है तो उनका सहयोग करूंगा.' साथ ही ताहिर ने यह भी कहा कि मेरी जान को खतरा है. वहीं अब दिल्ली हिंसा की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेटिंग टीम (SIT) करेगी. इसके लिए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के तहत दो एसआईटी का गठन किया गया है. एसआईटी की एक टीम के मुखिया डीसीपी जॉय टिर्की होंगे जबकि दूसरी टीम के हेड डीसीपी राजेश देव होंगे.

ये भी पढ़ें-  

दिल्ली हिंसा: भाई की तलाश में भटक रहा शख्‍स, अब DNA टेस्ट का है इंतजार

दिल्ली हिंसा: बीजेपी नेता अख्तर रजा का आरोप- उपद्रवियों ने मेरा घर फूंका
First published: March 2, 2020, 12:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading