Court rejects Safoora bail: 'अंगारे से खेलते हैं तो आग भड़कने के लिए हवा को दोष नहीं दे सकते'
Delhi-Ncr News in Hindi

Court rejects Safoora bail: 'अंगारे से खेलते हैं तो आग भड़कने के लिए हवा को दोष नहीं दे सकते'
जामिया मिल्लिया इस्लामिया में एम फिल की छात्रा सफूरा जारगर चार माह की गर्भवती हैं.

दिल्ली की एक अदालत ने जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी (Jamia Coordination Committee) की सदस्य सफूरा जरगर (Safoora Zargar) की जमानत अर्जी गुरुवार को खारिज कर दी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली की एक अदालत ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के संबंध में यूएपीए (UAPA) कानून के तहत गिरफ्तार जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी (Jamia Coordination Committee) की सदस्य सफूरा जरगर (Safoora Zargar) की जमानत अर्जी गुरुवार को खारिज कर दी.

अदालत ने अर्जी खारिज करते हुए कहा कि जब आप अंगारे के साथ खेलते हैं, तो चिंगारी से आग भड़कने के लिए हवा को दोष नहीं दे सकते. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने कहा कि जांच के दौरान एक बड़ी साजिश देखी गई और अगर पहली नजर में साजिश, कृत्य के सबूत हैं, तो किसी भी एक षड्यंत्रकारी द्वारा दिया गया बयान, सभी के खिलाफ स्वीकार्य है.

अदालत ने कहा कि भले ही आरोपी (जरगर) ने हिंसा का कोई प्रत्यक्ष कार्य नहीं किया, लेकिन वह गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के प्रावधानों के तहत अपने दायित्व से बच नहीं सकती हैं. अदालत ने कहा, “सह-षड्यंत्रकारियों के कृत्य और भड़काऊ भाषण भारतीय साक्ष्य अधिनियम के तहत आरोपी के खिलाफ भी स्वीकार्य हैं.“



अदालत ने कहा कि यह दिखाने के लिए प्रथम दृष्टया सबूत हैं कि कम से कम चक्का जाम के पीछे तो साजिश थी. उनकी खराब चिकित्सा स्थिति को ध्यान में रखते हुए अदालत ने तिहाड़ जेल के अधीक्षक से उन्हें पर्याप्त चिकित्सकीय मदद और सहायता मुहैया कराने के लिए कहा.



जामिया मिल्लिया इस्लामिया में एम फिल की छात्रा सफूरा, चार माह की गर्भवती हैं.

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई सुनवाई में, पुलिस ने अदालत से कहा कि जरगर ने भीड़ को भड़काने के लिए कथित रूप से भड़काऊ भाषण दिया, जिससे फरवरी में हिंसा हुई. जरगर के वकील ने दावा किया कि उन्हें मामले में फंसाया जा रहा है और मामले में कथित आपराधिक साजिश में उनकी कोई भूमिका नहीं है.

 

ये भी पढ़ें-

दिल्ली: आजादपुर में शांति भवन शॉपिंग बिल्डिंग में लगी आग, आग पर पाया गया काबू

SIT का बड़ा खुलासा- एक Whatsapp ग्रुप से ऑपरेट हो रही थी दिल्ली हिंसा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading