दिल्ली हिंसा: हाईकोर्ट ने पिंजरा तोड़ की सदस्य देवांगना कलिता को दी जमानत
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली हिंसा: हाईकोर्ट ने पिंजरा तोड़ की सदस्य देवांगना कलिता को दी जमानत
उन पर दंगा करने, गैरकानूनी तरीके से जमा होने और हत्या की कोशिश करने सहित भादंवि की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था. (फाइल फोटो)

न्यायमूर्ति सुरेश कुमार कैत ने जेएनयू की छात्रा देवांगना कलिता (Devangana Kalita) को 25,000 रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि की जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में साम्प्रदायिक हिंसा (Delhi violence) से जुड़े एक मामले में महिला संगठन ‘पिंजरा तोड़’ (Break the cage) की एक सदस्य को मंगलवार को जमानत दे दी. न्यायमूर्ति सुरेश कुमार कैत ने जेएनयू की छात्रा देवांगना कलिता (Devangana Kalita) को 25,000 रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि की जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया. अदालत ने उन्हें गवाहों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर पर प्रभावित करने और सबूतों के साथ छेड़छाड़ ना करने का निर्देश दिया.

फरवरी में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शनों के दौरान उत्तर पूर्व दिल्ली में भड़की सांप्रदायिक हिंसा से जुड़े एक मामले में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने मई में नताशा नरवाल के समूह की कलिता और अन्य सदस्यों को मई में गिरफ्तार किया था. उन पर दंगा करने, गैरकानूनी तरीके से जमा होने और हत्या की कोशिश करने सहित भादंवि की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था.

उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगे सहित कुल चार मामले दर्ज हैं
कलिता पर दिसम्बर में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान पुरानी दिल्ली के दरियागंज इलाके में हुई हिंसा और उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगे सहित कुल चार मामले दर्ज हैं. उत्तरपूर्वी दिल्ली में 24 फरवरी को सांप्रदायिक दंगे भड़क गए थे. इन दंगों में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 200 लोग घायल हो गए थे.
ताहिर हुसैन को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार कर लिया है


बता दें कि सोमवार को खबर सामने आई थी कि दिल्ली हिंसा के आरोपी और आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार कर लिया है. ताहिर हुसैन पर ईडी ने ये कार्रवाई मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत की थी. इससे पहले ईडी ने ताहिर को कड़कड़डुम्मा कोर्ट में पेश किया था, जहां से उसे 6 दिन की रिमांड पर भेजा गया. गौरतलब है कि ईडी की टीम को कोर्ट से 6 दिनों की रिमांड की अनुमति पहले ही मिल चुकी थी. इसमें से दो दिन तो ताहिर की कोरोना जांच में ही निकल गए. अब ईडी ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. ‌इसके बाद उससे पूछताछ शुरू की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज