अपना शहर चुनें

States

दिल्ली हिंसा: लापरवाही का जिम्मेदार कौन? गृह मंत्रालय ने पुलिस से तलब की रिपोर्ट

स्थानीय लोगों का भी आरोप है कि पुलिस पीसीआर को फोन किए जाने के बावजूद मौके पर नहीं पहुंची
स्थानीय लोगों का भी आरोप है कि पुलिस पीसीआर को फोन किए जाने के बावजूद मौके पर नहीं पहुंची

गृह मंत्रालय के आला अधिकारियों को ये जानकारी मिली है कि हिंसा के शुरुआती दौर में पुलिस ने कोई कड़ी कार्रवाई नहीं की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 3, 2020, 12:11 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा (Delhi Violence) के पीछे लापरवाही का जिम्मेदार कौन इस बाबत केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट तलब की है. अनुमान लगाया जा रहा है इस रिपोर्ट के बाद अधिकारिक तौर पर लापरवाही की जांच के आदेश दिए जा सकते हैं. गृह मंत्रालय के आला अधिकारियों को ये जानकारी मिली है कि हिंसा के शुरुआती दौर में पुलिस ने कोई कड़ी कार्रवाई नहीं की थी. स्थानीय लोगों का भी आरोप है कि पुलिस पीसीआर को फोन किए जाने के बावजूद मौके पर नहीं पहुंची, ये जानकारी भी सरकार को मिली है.


ये बात भी सामने आ रही है कि हिंसा पर की जाने वाली पुलिस ड्रिल भी पूरी नहीं की गई. सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से जल्द ही इन बिन्दुओं पर दिल्ली पुलिस को जांच के अधिकारिक आदेश दिए जा सकते हैं. बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में बीते दिनों हुई हिंसा में अब तक 47 लोगों की जान जा चुकी है. हिंसा की आग में कई लोगों की जिंदगी भर की जमापूंजी तबाह हो गई. ऐसे लोग अब अपना सबकुछ छोड़कर दूसरी जगह जाने को मजबूर हैं.

हिंसा को लेकर कौन है जिम्मेदार?
दिल्ली हिंसा को लेकर अब भी कई सवाल खंगाले जा रहे हैं. बीते रविवार से बुधवार तक उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाके क्यों और कैसे जले? क्या यह सोची-समझी रणनीति के तहत किया गया? इन सवालों का जवाब तो खंगाले जा रहे हैं लेकिन जमीन पर अब भी हकीकत कुछ और है. नार्थ-ईस्ट इलाके में हिंसा के बाद स्थिति सामान्य हो रही है. बैंक, अस्पताल और दुकानें खुल गई हैं. लोग पहले की तरह ही खरीददारी कर रहे हैं और सड़क पर भी रौनक है.
सोमवार को भी दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और नए पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा किया है. दोनों ने शिव विहार सहित कई इलाकों का दौरा कर लोगों से बात की है. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षा भी हिंसा प्रभावित इलाकों में शुरू हुई. अभी हिंसा ग्रस्त इलाकों में पुलिस गस्त कर रही है. दिल्ली पुलिस के जवानों के साथ सीआईएसफ और सीआरपीफ के जवान सोमवार को भी हिंसाग्रस्त इलाके में मौजूद दिखे.
ये भी पढ़ें: 



Delhi Violence: चांदबाग इलाके में जब दंगों के बीच एक मंदिर की सुरक्षा दीवार बन गए मुस्लिम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज