• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली हिंसा: कड़कड़डूमा कोर्ट का पहला फैसला, दंगा भड़काने और लूटपाट का आरोपी बरी

दिल्ली हिंसा: कड़कड़डूमा कोर्ट का पहला फैसला, दंगा भड़काने और लूटपाट का आरोपी बरी

कड़कड़डूमा कोर्ट ने अपने निर्णय में कहा कि गवाही के दौरान आरोपी की पहचान स्थापित नहीं हो सकी, गवाहों के बयान में विरोधाभास था

कड़कड़डूमा कोर्ट ने अपने निर्णय में कहा कि गवाही के दौरान आरोपी की पहचान स्थापित नहीं हो सकी, गवाहों के बयान में विरोधाभास था

Delhi News: आरोपी सुरेश के वकील राजीव प्रताप सिंह ने न्यूज़ 18 को बताया कि दिल्ली पुलिस इस केस में निकम्मी साबित हुई है. कोई एविडेंस नहीं था, कुछ नहीं था. गवाहों ने कोर्ट में आकर कहा कि यह आरोपी नही है. सुरेश इतना गरीब है कि अदालत ने उसे 15 हजार रुपये पर जमानत दे चुकी है. लेकिन वो 15 हजार जमा नहीं करा पाया और अभी तक जेल में बंद है

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हिंसा मामले (Delhi Violence Case) में कड़कड़डूमा कोर्ट (Karkardoom Court) का पहला फैसला आया है. कोर्ट ने एक मामले को लेकर अपना निर्णय सुनाते हुए आरोपी सुरेश उर्फ भटूरा को बरी कर दिया है. अदालत ने कहा कि गवाही के दौरान आरोपी की पहचान स्थापित नहीं हो सकी. गवाहों के बयान में विरोधाभास था. बीते 21 अप्रैल को कड़कड़डूमा कोर्ट के जज अमिताभ रावत ने मामले में सुनवाई पूरी होने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था. आरोपी सुरेश पर आईपीसी की धारा 454, 149, 395, 143, 147, 427 के तहत आरोप तय किये गए थे.

सुरेश के वकील राजीव प्रताप सिंह ने न्यूज़ 18 को बताया कि दिल्ली पुलिस इस केस में निकम्मी साबित हुई है. कोई एविडेंस नहीं था, कुछ नहीं था. गवाहों ने कोर्ट में आकर कहा कि यह आरोपी नही है. सुरेश इतना गरीब है कि अदालत ने उसे 15 हजार रुपये पर जमानत दे चुकी है. लेकिन वो 15 हजार जमा नहीं करा पाया और अभी तक जेल में बंद है.

बता दें कि 24 फरवरी, 2020 को सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर इसके विरोधी और समर्थक गुटों के बीच नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में जमकर हिंसा और झड़प हुई थी. यह पूरा इलाका दो दिन तक हिंसा की आग में झुलसता रहा. इन दंगों में 54 लोगों की मौत हो गई थी जबकि सैकड़ों लोग बुरी तरह घायल हुए थे. सुरेश पर हिंसा भड़काने, भीड़ का हिस्सा बनने का आरोप लगा था. पुलिस के चार्जशीट के मुताबिक सुरेश ने भीड़ के साथ 25 फरवरी, 2020 की शाम को बाबरपुर रोड पर हाथों में आयरन रॉड, डंडा लिए दुकाने के शटर तोड़े और वहां से सामान लूट लिए. खास बात है कि जब यह दंगे भड़के थे उस वक्त अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आए हुए थे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज