अपना शहर चुनें

States

दिल्ली हिंसा: सिसोदिया का ऐलान- अब वेरिफिकेशन के बाद पीड़ितों को मिलेगा मुआवजा

दिल्ली हिंसा: अब मुआवाजे के लिए कराना होगा वेरिफिकेशन
दिल्ली हिंसा: अब मुआवाजे के लिए कराना होगा वेरिफिकेशन

वेरिफिकेशन के लिए 7 आईएएस ऑफिसर उत्तर पूर्वी दिल्ली के इलाकों में जाकर लोगों से मुलाकात करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 7, 2020, 10:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा को लेकर केजरीवाल सरकार ने पीड़ितों को दिए जाने वाले मुआवजे को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मुआवजा देने के लिए पीड़ितों का वेरिफिकेशन किया जाएगा. जानकारी के मुताबिक वेरिफिकेशन के लिए 7 आईएएस ऑफिसर उत्तर पूर्वी दिल्ली के इलाकों में जाकर लोगों से मुलाकात करेंगे.

सिसोदिया ने बताया किसे मिलेगा मुआवजा
हिंसा पीड़ितों को मुआवजा देने के आधार पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर हिंसा के दौरान किसी का घर पूरा जला है, तो उसको पांच लाख रुपये दिए जाएंगे, जिनमें से 4 लाख घर के स्ट्रक्चर के लिए और एक लाख सामान के लिए. वहीं, अगर घर आधा जला है, तो ढाई लाख रुपये दिए जाएंगे. इसमें से दो लाख रुपये घर के स्ट्रक्चर के लिए और पचास हजार रुपये सामान के लिए होंगे.

स्कूलों को भी देंगे मुआवजा
मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में जो हिंसा हुई थी, उसमें स्कूलों को भी नुकसान पहुंचाया गया था, लिहाजा स्कूलों को भी मुआवजा दिया जाएगा. डिप्टी सीएम ने बताया कि जिन स्कूलों में 1,000 से ज्यादा बच्चे पढ़ते हैं, उन्हें 10 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर दिए जाएंगे. वहीं, जिन स्कूलों में 1,000 से कम बच्चे पढ़ते हैं, उनको 5 लाख रुपये मुआवजे में दिए जाएंगे.



दिल्ली में सबसे ज्यादा युवाओं की मौत
को बता दें कि 24 से 26 फरवरी को उत्तर पूर्वी दिल्ली में जबरदस्त हिंसा देखने को मिली थी. हिंसा में मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 53 हो गई है. गुरुवार को 32 वर्षीय नरेश सैनी की मौत हो गई. हिंसा के दौरान उन्हें गोली लगी थी. वहीं दिल्ली में हिंसा के बाद जीटीबी और लोकनायक अस्पताल ने अपनी रिपोर्ट स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को भेज दी है. इस रिपोर्ट के अनुसार, हिंसा में सबसे ज्यादा मौत युवाओं की हुई है. इन पर हमला किया गया और फिर इन्हें जला डाला गया.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली हिंसा: IB अफसर अंकित शर्मा के परिजनों से मिले मनोज तिवारी

Delhi Violence: अब तक 683 FIR दर्ज, 1983 लोग पुलिस गिरफ्त में
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज