Home /News /delhi-ncr /

Delhi Violence: चांदबाग इलाके में जब दंगों के बीच एक मंदिर की सुरक्षा दीवार बन गए मुस्लिम

Delhi Violence: चांदबाग इलाके में जब दंगों के बीच एक मंदिर की सुरक्षा दीवार बन गए मुस्लिम

मंदिर को आसपास आगजनी के बावजूद बचाया गया   
(सभी फोटो: Ravishankar singh)

मंदिर को आसपास आगजनी के बावजूद बचाया गया (सभी फोटो: Ravishankar singh)

मजार से सटे पुलिस बूथ को भी उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया, लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि इसके 10 कदम की दूरी पर एक मंदिर को खरोंच तक नहीं आई.

नई दिल्ली. दिल्ली का नॉर्थ-ईस्ट इलाका पिछले कुछ दिनों से हिंसा की आग में जल रहा था, लेकिन इलाके के कुछ मुस्लिम परिवारों ने इंसानियत की मिसाल पेश की है. खजूरी खास और चांद बाग इलाके में मुस्लिमों ने दीवार बनकर एक मंदिर पर हमले को रोक दिया. बुधवार को जब न्यूज़ 18 हिंदी की टीम दंगा प्रभावित इलाकों का दौरा करने पहुंची तो हमारा सबसे पहले सामना भजनपुरा चौराहे पर जली गाड़ियों, फूंके गए पेट्रोल पंप और आसपास तैरते खौफ से हुआ.

बीते 72 घंटों के दौरान यहां तबाही का तांडव हुआ था इसके निशान साफ देखे जा सकते हैं. यहां पर हमें इलाके के डीसीपी की एक गाड़ी भी जली मिली. भजनपुरा में इसी जगह उन्मादी भीड़ डीसीपी पर हमला किया था. हमें वो घर भी देखने को मिला जहां डीसीपी और उसके साथी ने किसी तरह पनाह लेकर अपनी जान बचाई थी.

यहां पर हमें आस-पास जो लोग मिले उनमें अभी घटना का खौफ साफ तौर पर देखा जा सकता था. घबराए लोग नजर आए जो अपनी गलियों के गेट के पीछे से हर आने-जाने वाले लोगों को उम्मीद भरी निगाहों से देख रहे थे. खजूरी खास चौक पर पुलिस बूथ के नजदीक ही एक मजार को बुरी तरह जला दिया गया था. इस मजार पर चढ़ाने के लिए फूल चारों तरफ बिखरे हुए थे.

Delhi Violence, North East Delhi riots, Delhi news, Citizenship Act, National Citizenship Register, Violence, Stonewalling, CAA, bhajanpura, delhi police, Ministry of Home Affairs, hindu-muslims, temple, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली दंगा, सीएए, दिल्ली न्यूज, नागरिकता संशोधन कानून, संशोधित नागरिकता कानून, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर, गृह मंत्रालय, दिल्ली पुलिस, हिंदू-मुस्लिम
मंदिर के आसपास हुई आगजनी




मजार से सटे पुलिस बूथ को भी उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया, लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि इसके 10 कदम की दूरी पर एक मंदिर को खरोंच तक नहीं आई. मंदिर के आमने-सामने, अगल-बगल सभी घरों को दंगाइयों ने नुकसान पहुंचाया लेकिन, मंदिर को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचा. पास में ही एक फलों के जूस की दुकान भी नजर आई जो बयान कर रही है कि वहां दंगाइयों ने आखिर क्या किया होगा.

अगर हम मंदिर की लोकेशन की बात करें तो यह मंदिर भारी मुस्लिम आबादी वाला चांद बाग के ठीक सामने है. इस मंदिर के आसपास भी कई मुस्लिम परिवार रहते हैं. हमने उन लोगों से बात की तो उनकी बातें सुन कर आश्चर्यचकित होने से अपने आपको नहीं रोक सके. लोगों का कहना था कि इस तबाही ने सबको बेहद तकलीफ दी है.

मंदिर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हमने दिन-रात पहरा देकर पूरी कोशिश की है कि कोई दंगाई इसे हाथ न लगाने पाए. अगर मंदिर को हाथ लगाया जाता है तो यकीन मानिए हम सबके लिए यह बेहद शर्मिंदगी की बात होती. हम हर वक्त मंदिर की सुरक्षा में लोग मौजूद थे. हमने मंदिर के पुजारी को वहां जाकर आश्वासन दिया कि आप सुरक्षित हैं हम आपके साथ हैं.

Delhi Violence, North East Delhi riots, Delhi news, Citizenship Act, National Citizenship Register, Violence, Stonewalling, CAA, bhajanpura, delhi police, Ministry of Home Affairs, hindu-muslims, temple, दिल्ली हिंसा, नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली दंगा, सीएए, दिल्ली न्यूज, नागरिकता संशोधन कानून, संशोधित नागरिकता कानून, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर, गृह मंत्रालय, दिल्ली पुलिस, हिंदू-मुस्लिम
दिल्ली हिंसा में तोड़फोड़ और आगजनी के बाद का मंजर


आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि इस भव्य मंदिर को कोई आंच नहीं आई है. वहां मौजूद लोगों में से एक नजीर ने कहा कि हमें ज्यादा चिंता इस बात की थी कि इस मंदिर की ओर बढ़ा कोई भी पत्थर दंगाइयों को पूरी दिल्ली में आग लगाने का मौका दे देता जो हम कतई नहीं चाहते थे. लोगों में भारी नाराजगी इस बात की ज्यादा थी कि पुलिस को एक नहीं दर्जनों बार कॉल की गई लेकिन पुलिस मौके पर नहीं आई जिसके चलते आसपास के इलाकों में हालात ज्यादा खराब हो गए.

ये भी पढ़ें:

Delhi Violence: भजनपुरा में लोगों ने पूछा, कहां थी पुलिस, बुधवार की सुबह ही क्यों पहुंची?

राज्यसभा: 55 सीटों पर चुनाव के बाद भी बहुमत में नहीं आएगी बीजेपी!  

Tags: Delhi, Delhi news, Hindu-mushlim clashed, Ministry of Home Affairs

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर