लाइव टीवी

Delhi Violence: दिल्ली हिंसा में मारे गए बेटे की डेडबॉडी के लिए भटक रहा पिता
Delhi-Ncr News in Hindi

Ravi Shankar | News18Hindi
Updated: February 25, 2020, 6:13 PM IST
Delhi Violence: दिल्ली हिंसा में मारे गए बेटे की डेडबॉडी के लिए भटक रहा पिता
अपने बेटे की डेडबॉडी के इंतजार में खड़े हरि सिंह सोलंकी

पुलिस और अस्पताल प्रशासन ने कहा पोस्टमार्टम के लिए बोर्ड बैठेगा, पिता ने उठाए सवाल, कहा-जब शहीद रतनलाल के लिए बोर्ड नहीं बैठा तो मेरे बेटे के लिए क्यों?

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2020, 6:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर दिल्ली में हिंसा का दौर अब भी जारी है. दिल्ली पुलिस के एक जवान सहित सात लोग इसके शिकार हो चुके हैं. इनके परिवारों में कोहराम मचा हुआ है. सरकार के खिलाफ गुस्सा है. हिंसा के शिकार लोगों में से एक हैं बाबूनगर मुस्तफाबाद के रहने वाले हरि सिंह सोलंकी. जिन्होंने अपना जवान बेटा खो दिया है. उनका आरोप है कि इस दुख को सहन करने की सांत्वना देना तो दूर दिल्ली पुलिस और हॉस्पिटल प्रशासन सोमवार रात से उनके बेटे की डेडबॉडी तक नहीं दे रहे.

उधर, प्रशासन का कहना है कि पोस्टमार्टम के लिए बोर्ड बैठेगा तो सोलंकी ने सवाल किया है कि जब शहीद रतनलाल का पोस्टमार्टम बिना बोर्ड के हुआ है तो फिर उनके बेटे के लिए बोर्ड क्यों? दो बार वो इस मामले के जांच अधिकारी के लिए भजनपुरा थाने जाने की कोशिश कर चुके हैं लेकिन वहां हालात खराब हैं इसलिए प्रशासन ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दे रहा. आरोप ये भी है कि जांच अधिकारी उनका फोन नहीं उठा रहा. उनके घर और जीटीबी अस्पताल पर जानने वालों का तांता लगा हुआ है.

दिल्ली, मौजपुर मेट्रो स्टेशन, कबीर नगर, संशोधित नागरिकता कानून, राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर, हिंसा, पत्थरबाजी, Delhi, Maujpur Metro Station, Kabir Nagar, Amended Citizenship Act, National Citizenship Register, Violence, Stonewalling, CAA, सीएए
सोमवार को उत्तर-पूर्व दिल्ली के कई इलाकों में भड़की हिंसा और आगजनी के बाद यहां बड़ी संख्या में पुलिसबलों की तैनाती की गई है


अप्रैल में होने वाली थी रोहित की शादी



>>दिल्ली हिंसा में गोली का शिकार बने रोहित सोलंकी की अप्रैल में शादी होने वाली थी. इसके लिए तैयारियां चल रही थीं, लेकिन इसकी खुशियों को दंगाईयों की नजर लग गई और उसकी दुनिया उजड़ गई.

न्यूज18हिंदी से बातचीत में रोहित के पिता हरि सिंह ने बताया कि रोहित निजी कंपनी में काम करता था. वो चार भाई-बहनों में दूसरे नंबर पर था. उसकी बहन सीआईएसएफ में सब-इंस्पेक्टर है.

उधर, जीटीबी अस्पताल में अब भी दिल्ली हिंसा में घायल लोगों का आना जारी है. वहां कुछ ही देर में घायलों का हालचाल जानने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल जाने वाले हैं.

(साथ में नासिर हुसैन)

ये भी पढ़ें:  देश के सबसे पिछड़े जिले के कई स्कूलों में नहीं हैं टीचर, परीक्षा में क्या लिखेंगे बच्चे?

 

अमेरिकी राष्ट्रपति के नाम पर दौलतपुर नसीराबाद ऐसे हो गया कार्टरपुरी!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 25, 2020, 4:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर