Delhi Violence: खो गई थी 2 साल की मासूम, महिला आयोग की मदद से घर पहुंची
Delhi-Ncr News in Hindi

Delhi Violence: खो गई थी 2 साल की मासूम, महिला आयोग की मदद से घर पहुंची
मीडिया रिपोर्टस से दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल को इसकी जानकारी मिली थी. (फोटो साभार: DCW)

राजधानी दिल्ली के कई इलाको में हिंसा (Delhi Violence) की घटना के बाद महिला आयोग भी आम लोगों के दर्द कम करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है. दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women Commission) ने 2 साल की छोटी बच्ची को उसके परिवार से मिलवाने में मदद की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में हिंसा (Delhi Violence) की घटना हुई थी. जिसके बाद महिला आयोग भी आम लोगों के दर्द कको कम करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है. दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women Commission) ने 2 साल की छोटी बच्ची को उसके परिवार से मिलवाने में मदद की है. दरअसल एक परिवार से दो साल की मासूम बिछड़ गई थी. इस बात की जानकारी जब दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल को मिली तो उन्होंने बच्ची को एक शेल्टर होम से ढूंढ निकाला. बच्ची एक महिला के पास सुरक्षित थी और इसके बाद मासूम के परिवार को ढूंढ कर बच्ची को उन्हें सौंपा गया.

दिल्ली महिला आयोग ने इसकी जानकारी एक ट्वीट कर दी. ट्वीट में कहा है कि दिल्ली महिला आयोग ने हिंसा में खोई 2 साल की बच्ची के माता-पिता को खोज लिया. इस दौरान हमारी टीम कई घरों में गई. उन्होंने यह भी लिखा है कि पुलिस ने इस मामले में काफी बहुत सहयोग किया, जिस कारण हम बच्ची के परिजन को ढूंढ सके.

मुस्तफाबाद के शेल्टर होम में थी ये बच्ची
आज तक की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह बच्ची हिंसा के बाद एक महिला के पास मुस्तफाबाद में हिंसा पीड़ितों के लिए बनाए गए शेल्‍टर होम में थी. इसकी जानकारी दिल्ली महिला आयोग को मिली. जिसके बाद आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल और एक अन्य सदस्य फिरदौस खान ने इसकी जिम्मेदारी महिला पंचायत टीम को सौंप दी.
डर से महिला ने नहीं की रिपोर्ट


इसके बाद इस टीम ने यह बच्ची जिस महिला के पास मौजूद थी, उससे मुलाकात की. इस दौरान इस महिला ने बताया कि हिंसा की घटनाओं के दौरान उसे यह एक मस्जिद के पास मिली थी. लेकिन वो कुछ बोल नहीं पा रही थी. जिसके बाद यह महिला उसे अपने साथ ले गई. लेकिन इस महिला ने डर से पुलिस की इसकी रिपोर्ट नहीं की.

पुलिस का साथ मिला तो हुआ संभव
इस मामले में महिला आयोग की सदस्य फिरदौस ने इस महिला से बातचीत कर उसे बताया कि इस बच्ची को उसके परिजन से मिलवाने के लिए आयोग प्रयास कर रहा है. समझाइश के बाद महिला बच्ची को आयोग को सौंपने के लिए राजी हुई. आयोग ने पुलिस को इसकी जानकारी दी. इस दौरान पुलिस ने आयोग के साथ मिलकर एक अभियान चलाया. काफी मशक्कत के बाद इस बच्ची के दादा ने पुलिस से संपर्क किया.

परिजन कर रहे थे तलाश
इस बच्ची के परिवार के लोग इसकी दो-तीन दिनों से लगातार तलाश कर रहे थे. जानकारी मिलने के बाद परिजनों को पुलिस स्टेशन बुला कर इस मासूम से मिलवाया गया. महिला आयोग के प्रयास से इस बच्ची को सुरक्षित उसके परिवार को सौंप दिया गया.

सोशल मीडिया के जरिए मिली जानकारी
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मीडिया से कहा कि इस बच्ची के बिछड़ने की खबर मीडिया और सोशल मीडिया के जरिए मिली, जिसके बाद एक टीम का गठन किया गया और इसके परिवार को ढूंढने की कवायद शुरू हुई. मालीवाल ने बताया कि इस मामले में पुलिस से भी काफी सहयोग किया है. आयोग की सदस्य फिरदौस ने इस मामले में ज्वॉइंट कमिश्नर आलोक कुमार से बात की थी, उन्होंने महिला आयोग को पूरा सहयोग देने की बात कही थी.

ये भी पढ़ें:  दिल्ली हिंसा: बेकाबू भीड़ ने किया था DCP पर जमकर पथराव, सामने आए 2 नए वीडियो

Delhi Violence: जिस कार से भागा था शाहरुख, अब पुलिस ने की जब्त

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading