Home /News /delhi-ncr /

delhi water crisis increasing day by day aap need haryana government support nodnc

Delhi Water Crisis : सूख रहा वजीराबाद बैराज, दिल्ली ताक रहा हरियाणा का मुंह

दिल्ली के वजीराबाद जलाशय का जलस्तर गिरकर इस साल के सबसे निचले स्तर 668.3 फुट पर पहुंच गया है, जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी में जलापूर्ति की स्थिति और बदतर हो गई है.

दिल्ली के वजीराबाद जलाशय का जलस्तर गिरकर इस साल के सबसे निचले स्तर 668.3 फुट पर पहुंच गया है, जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी में जलापूर्ति की स्थिति और बदतर हो गई है.

Yamuna Water : आप विधायक के अनुसार हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर यमुना में पानी छोड़ने के लिए कहेंगे तो इस समस्या का समाधान होगा. पार्टी के अनुसार हरियाणा की तरफ से पर्याप्त पानी नहीं छोड़ा जा रहा है इस कारण राजधानी दिल्ली में जल संकट गहराता जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

यमुना दिल्ली में वजीराबाद बैराज से 15 किमी. ऊपर पल्ला में प्रवेश करती है.

नई दिल्ली. दिल्ली में पिछले कुछ समय से लगातार पानी का संकट नजर आ रहा है. दिल्ली के अधिकांश इलाकों में वॉटर सप्लाई पर असर दिख रहा है. पानी के इस संकट की प्रमुख वजह वजीराबाद बैराज है, जहां से दिल्ली के अधिकांश हिस्सों में पानी जाता है. इस बैराज में लगातार जल स्तर कम हो रहा है. दिल्ली के वजीराबाद जलाशय का जलस्तर गिरकर इस साल के सबसे निचले स्तर 668.3 फुट पर पहुंच गया है. दिल्ली जल बोर्ड के अनुसार यमुना नदी लगभग सूख चुकी है. इस कारण विभाग की ओर से कैरियर लाइन्ड कैनाल (सीएलसी) और दिल्ली सब ब्रांच (डीएसबी) से पानी का रुख वजीराबाद की ओर मोड़ा जा रहा है. जल बोर्ड की ओर से हरियाणा सरकार को लैटर लिखा गया है और यमुना में पानी छोड़ने का आग्रह किया गया है.

दूसरी तरफ इस जल संकट पर राजधानी की आप सरकार को लगातार घेरा जा रहा है. आप के विधायक सौरभ भारद्वाज ने इस संकट के लिए हरियाणा सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. आप विधायक के अनुसार हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर यमुना में पानी छोड़ने के लिए कहेंगे तो इस समस्या का समाधान होगा. पार्टी के अनुसार हरियाणा की तरफ से पर्याप्त पानी नहीं छोड़ा जा रहा है इस कारण राजधानी दिल्ली में जल संकट गहराता जा रहा है.

तालाब में जल स्तर घट रहा
जल संकट को लेकर आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि वजीराबाद तालाब में पानी का स्तर 668 के करीब है. यह स्तर 674.5 फीट होना चाहिए. हरियाणा की तरफ से यमुना में कम पानी छोड़ा जा रहा है. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को संकेत मिलेंगे तो वे यमुना में पानी छोड़ेंगे. बता दें कि यमुना नदी स्थित वजीराबाद बैराज में जलस्तर काफी कम होता जा रहा है. इस कारण दिल्ली जल बोर्ड के तीन जल शोधक संयंत्रों से पानी की आपूर्ति प्रभावित हो रही है.

1959 में बना था वजीराबाद बैराज
दरअसल दिल्ली लैंडलॉक जगह है, जहां पानी की आपूर्ति आस पास के राज्यों पर निर्भर है. हरियाणा के यमुना के अलावा पंजाब के भाखड़ा से भी पानी मिलता है. यमुना दिल्ली में वजीराबाद बैराज से 15 किमी. ऊपर पल्ला में प्रवेश करती है. यह दिल्ली का एक मुख्य जलाशय है. वजीराबाद बैराज को 1959 में बनाया गया था. यहां जल स्तर के कम होने से दिल्ली के कई इलाकों पर असर साफ नजर आ रहा है. इनमें कमला नगर, करोल बाग, हिंदू राव अस्पताल, पहाड़ गंज, सिविल लाइन, दिल्ली गेट, गुलाबी बाग, प्रेम नगर, शक्ति नगर, दिल्ली छावनी, जहांगीरपुरी, रामलीला ग्राउंड, साउथ एक्सटेंशन, इंद्रपुरी, ग्रेटर कैलाश, मॉडल टाउन आदि शामिल है.

Tags: Delhi news, Haryana Government, Water Crisis

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर