Home /News /delhi-ncr /

दिल्‍ली: चेतावनी के निशान के करीब पहुंचा यमुना का जल स्‍तर, हथिनी कुंड से फिर छोड़ा गया 5000 क्‍यूसेक पानी

दिल्‍ली: चेतावनी के निशान के करीब पहुंचा यमुना का जल स्‍तर, हथिनी कुंड से फिर छोड़ा गया 5000 क्‍यूसेक पानी

गंग नहर की सफाई के चलते पीने के पानी की कमी हो सकती है. Demo Pic.

गंग नहर की सफाई के चलते पीने के पानी की कमी हो सकती है. Demo Pic.

हरियाणा (Haryana) के हथिनी कुंड बैराज (Hathini Kund Barrage) से आज सुबह एक बार फिर 5 हजार क्‍यूसेक पानी छोड़ा गया है. इस पानी को दिल्‍ली (Delhi) पहुंचने में करीब 48 घंटे का समय लगेगा.

नई दिल्‍ली. राजधानी द‍िल्‍ली में यमुना नदी (Yamuna River) का जल स्‍तर चेतावनी के निशान के करीब पहुंच चुका है. आज सुबह हर‍ियाणा के हथिनी कुंड बैराज (Hathini Kund Barrage) से एक बार फिर पानी छोड़ा गया है. संभावना जताई जा रही है कि यह पानी अगले 48 घंटे के भीतर दिल्‍ली (Delhi) में पहुंच सकता है. इस पानी के पहुंचने के साथ, दिल्‍ली में यमुना का जल स्‍तर चेतावनी के निशान को पार सकता है. दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) का सिचाई और बाढ़ नियंत्रण विभाग पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. सभी प्रकार की परिस्थितियों से निपटने के लिए दिल्‍ली सरकार की तरफ से भी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं.

उल्‍लेखनीय है कि हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से छोड़े जा रहे पानी की वजह से दिल्ली में यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है. फिलहाल, दिल्‍ली में यमुना नदी का जल स्‍तर 204.38 मीटर पर है, जो कि खतरे के निशान के बेहद करीब है. उल्‍लेखनीय है कि दिल्‍ली में चेतावनी का स्‍तर चेतावनी का स्तर 204.5 मीटर है, जबकि खतरे का निशान 205.33 मीटर पर है. वहीं, हथिनिकुंड बैराज से छोड़े जा रहे पानी की बात करें तो शुक्रवार शाम छह बजे बैराज से 11,774 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था जो दिल्ली पंहुच गया है. आज सुबह 5 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है, जो 48 घंटे में दिल्ली पंहुच जायेगा. ऐसे में, ये अनुमान लगाया जा रहा है कि जल्द ही यमुना चेतावनी स्तर के ऊपर और ख़तरे के निशान तक पहुंच सकती है.

शुरू हुई हालात से निपटने की तैयारी
दिल्ली के बाढ़ एवं सिंचाई मंत्री सत्येन्द्र जैन ने बताया कि यमुना में जलस्तर अभी 204 मीटर के आस पास ही है. हथिनीकुंड से पानी छोड़ा जा रहा है, तो उसका ध्यान रख रहे हैं. पहले 30 हज़ार क्यूसेक तक था, अब 6 हज़ार क्यूसेक है. यमुना अभी खतरे के निशान से करीब एक मीटर नीचे हैं. बावजूद इसके, हमने बाढ़ जैसी परिस्थितियों से निपटने के लिए कंट्रोल रूम वगैरह प्लान कर लिया गया है. फ्लड कंट्रोल का आदेश दिया जा चुका है. सारे सिस्टम व्यवस्थित हैं, उसको तुरंत एक्टिवेट कर दिया जायेगा. दिल्ली में यमुना के साथ-साथ जितने भी इलाके हैं, सब जगह पर एक्‍शन प्लान बना लिया गया है. उल्‍लेखनीय है कि दिल्ली-एनसीआर में लगातार हो रही बारिश और हथिनी कुंड बैराज से छोड़े जा रहे पानी की वजह से यमुना में बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं.

Tags: Delhi news, Delhi news update, Flood, Hathinikund Barrage, Satendra Jain, Water Level, Yamuna River

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर