Waterlogging : दिल्ली में जलजमाव को लेकर एक-दूसरे पर कालिख पोतती नजर आईं एजेंसियां
Delhi-Ncr News in Hindi

Waterlogging : दिल्ली में जलजमाव को लेकर एक-दूसरे पर कालिख पोतती नजर आईं एजेंसियां
दिल्ली के कई इलाकों में इस बार की बारिश के बाद जलजमाओ के ऐसे नजारे आम थे. (फाइल फोटो)

संसदीय समिति के साथ हो रही बैठक में दिल्ली में हुए जलजमाव पर बात चल रही थी. इस मुद्दे पर सभी स्थानीय निकाय और दिल्ली के पीडब्ल्यूडी ने अपनी जिम्मेदारी से हाथ खींचते हुए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराते नजर आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 24, 2020, 12:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शहरी विकास मंत्रालय से संबंधित संसदीय स्टैंडिंग समिति (Standing Committee) में आज दिल्ली (Delhi) में जलजमाव (Water logging) और बाढ़ की स्थिति के लिए विभिन्न एजेंसियां एक-दूसरे पर आरोप मढ़ते दिखीं. संसदीय समिति के सूत्रों के अनुसार, दिल्ली के तीनों नगर निगम, दिल्ली सरकार और एनडीएमसी एक-दूसरे पर आरोप लगाते और अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते हुए दिखे.

शहरी विकास मंत्रालय की आज थी बैठक

शहरी विकास मंत्रालय से संबंधित संसदीय समिति की आज समिति के अध्यक्ष जगदंबिका पाल ने बैठक बुलाई थी. इस बैठक में दिल्ली के तीनों नगर निगम के प्रमुख दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले पीडब्ल्यूडी के मुख्य अधिकारी और एनडीएमसी के चेयरमैन को समिति ने बुलाया था. इस बैठक में दिल्ली में थोड़ी बारिश के बाद जलजमाव और बाढ़ की स्थिति आने के बारे में सवाल पूछे जाने के बाद सभी स्थानीय निकाय और दिल्ली के पीडब्ल्यूडी ने अपनी जिम्मेदारी से हाथ खींचते हुए दूसरों को जिम्मेदार ठहराते नजर आए. मिंटो रोड की घटना, जिसमें जलजमाव के कारण एक व्यक्ति की मौत हो गई थी, की जिम्मेदारी एमसीडी के अधिकारी पीडब्ल्यूडी पर लगा रहे थे. वहीं, पीडब्ल्यूडी के अधिकारी का कहना था की एमसीडी द्वारा अपनी नालियों की सफाई नहीं करने के कारण इस तरह की स्थिति बनी.



दिल्ली में इस तरह है काम का विभाजन
राष्ट्रीय राजधानी होने के कारण दिल्ली में विभिन्न कामकाज की जिम्मेदारी अलग-अलग एजेंसियों को दी गई है. दिल्ली में मुख्य नालों की सफाई की जिम्मेदारी दिल्ली सरकार के पीडब्ल्यूडी विभाग के पास है, वहीं छोटे नालों की सफाई की जिम्मेदारी एमसीडी के पास है. लुटियन दिल्ली की जिम्मेदारी एनडीएमसी के पास है. यही कारण है की अव्यवस्था होने पर सभी अपनी जिम्मेदारियों को एक-दूसरे पर थोपते रहते हैं.

इस तरह तय होगी जिम्मेदारी

संसद की स्थाई समिति ने आरोप-प्रत्यारोप को देखते हुए जल्द ही एक और बैठक बुलाने का फैसला किया है, जिसमें दिल्ली में जलजमाव और बाढ़ की स्थिति पर चर्चा होगी. इसके लिए संसदीय पैनल ने दिल्ली के मुख्य सचिव, पीडब्ल्यूडी, एमसीडी और गृह मंत्रालय के अधिकारी को भी पूरी जानकारी के साथ बैठक में बुलाने का फैसला किया है. इसके साथ ही अगली मीटिंग में दिल्ली में बाढ़ जैसे हालात और जलजमाव रोकने के लिए एक अधिकारी को प्रेजेंटेशन देने की बात भी कही गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज