लाइव टीवी
Elec-widget

सांस लेने लायक हुई दिल्ली की हवा, मॉडरेट कैटेगरी में पहुंचा AQI, खुले स्कूल

News18India
Updated: November 18, 2019, 9:40 AM IST
सांस लेने लायक हुई दिल्ली की हवा, मॉडरेट कैटेगरी में पहुंचा AQI, खुले स्कूल
दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम हुआ है, लेकिन मॉडरेट कैटेगरी पर बरकरार है. (फाइल फोटो)

सोमवार को सुबह दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण (Pollution) का स्तर (Air Quality Index PM 2.5) 174 तक दर्ज किया गया, जो दिल्ली वालों को राहत देने वाला है. इसके साथ ही दिल्ली में स्कूल (School) खुल गये हैं.

  • News18India
  • Last Updated: November 18, 2019, 9:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तेज और ठंडी हवाओं से दिल्ली में वायु प्रदूषण (Pollution) में काफी सुधार हुआ है. दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर (Air Quality Index) मॉडरेट कैटेगरी (Moderate category) में पहुंच गया है. प्रदूषण की स्थिति में सुधार के बाद आज से दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में स्कूल खुल गये हैं. बता दें कि गुरुवार और शुक्रवार को दिल्ली में स्कूलों (Schools) को प्रदूषण के चलते बंद रखा गया था.

सोमवार को सुबह दिल्ली में प्रदूषण का स्तर (Air Quality Index PM 2.5) 188 दर्ज किया गया, जो दिल्ली वालों को राहत देने वाला है. लोधी रोड इलाके में प्रदूषण का स्तर (Air Quality Index) 174 रहा, जो पिछले दो-तीन दिन की तुलना में बहुत कम है. दिल्ली के आरकेपुरम में प्रदूषण का स्तर 184 दर्ज किया गया है. यह मॉडरेट कैटेगरी में है.



सोमवार सुबह को मॉर्निंग वॉक करने निकले लोगों ने राहत मससूस की. लोगों ने बताया कि सांस लेने में परेशानी और आंखों में जलन जैसी कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़ा. सुबह-सुबह लोग अपने बच्चों को स्कूल छोड़ने गये तो कोई खास समस्या का सामना नहीं करना पड़ा.
Loading...

प्रदूषण को लेकर उच्च स्तरीय बैठक आज
दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर आज केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय की शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक होगी. पर्यावरण सचिव सीके मिश्र की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा व उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव हिस्सा लेंगे. इस बैठक में वायु प्रदूषण से प्रदूषण से निपटने के उपायों पर चर्चा होगी और समाधान खोजने का प्रयास किया जाएगा. बैठक में गृह मंत्रालय के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे, जो बेहतर यातायात प्रबंधन के उपायों पर चर्चा करेंगे. बैठक में दिल्ली के नगर निकायों के आयुक्त और फरीदाबाद, गाजियाबाद व गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शामि होंगे.



नवंबर में ही क्यों होती है हवा खराब?
दीपावली में आतिशबाजी और पराली जलाने के के कारण हर साल दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, फरीदाबाद और गुरुग्राम की हवा जहरीली हो जाती है. इसीलिए सरकार भी लोगों को प्रदूषण से बचाने के लिए तरह-तरह के काम करती है.



कितना एक्यूआई अच्छा होता है?
एक्यूआई 0-50 के बीच ‘अच्छा’, 51-100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101-200 के बीच ‘मध्यम’, 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘अत्यंत खराब, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर एवं आपात’ माना जाता है. दिल्‍ली-एनसीआर में आमतौर पर वायु प्रदूषण की स्थिति बेहद गंभीर हो जाती है, जिसके कारण इसे नियंत्रित करने के लिए कई कदम उठाने पड़ते हैं.

ये भी पढ़ें- तेज हवाओं ने सुधारी दिल्ली की सेहत, ठंड ने दी दस्तक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 8:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com