होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

लोगों को नहीं मिल पा रहे हैं किराए पर चार्टर प्लेन, ये है वजह

लोगों को नहीं मिल पा रहे हैं किराए पर चार्टर प्लेन, ये है वजह

किराए पर चार्टर प्‍लेन देने वाली कंपनियां प्‍लेन उपलब्‍ध नहीं करा पा रहीं हैं.

किराए पर चार्टर प्‍लेन देने वाली कंपनियां प्‍लेन उपलब्‍ध नहीं करा पा रहीं हैं.

चार्टर प्‍लेन की मांग में भारी इजाफा हुआ है. किराए पर उपलब्‍ध करने वाली कंपनियां मांग को पूरा नहीं कर पा रही हैं. एविएशन एक्‍सपर्ट बताते हैं कि मांग को देखते हुए कंपनियां चार्टर प्‍लेन खरीदकर बेड़े में संख्‍या बढ़ाने की तैयारी कर रही हैं, जिससे बाजार की मांग को पूरा किया जा सके. एविएशन इंडस्‍ट्री के लिए बहुत अच्‍छा समय माना जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. देश में चार्टर प्‍लेन (charter planes) की मांग में भारी इजाफा हुआ है. हालत यह हो गयी है कि चार्टर प्‍लेन किराए पर उपलब्‍ध करने वाली कंपनियां मांग को पूरा नहीं कर पा रही हैं. एविएशन (Aviation) एक्‍सपर्ट बताते हैं कि मांग को देखते हुए कंपनियां चार्टर प्‍लेन खरीदकर बेड़े में संख्‍या बढ़ाने की तैयारी कर रही हैं, जिससे बाजार की मांग को पूरा किया जा सके. एविएशन इंडस्‍ट्री (aviation industry) के लिए बहुत अच्‍छा समय माना जा रहा है.

देश में विभिन्‍न कंपनियों के पास किराए पर देने के लिए 100 के करीब चार्टर प्‍लेन हैं. कोरोना के बाद चार्टर प्‍लेन किराए पर देने की इंडस्‍ट्री में भारी उछाल आया है. चार्टर प्‍लेन की मांग प्री कोविड से ज्‍यादा हो गयी है. सारथी एविएशन के चेयरमैन गुलाब सिंह बताते हैं कि कोरोना से पहले से प्रति माह 40 से 50 घंटे चार्टर की उड़ान को बहुत अच्‍छा बिजनेस माना जाता था, लेकिन अब 70 से 80 घंटे की उड़ान प्रति माह चार्टर प्‍लेन कर रहे हैं. प्रति माह उड़ान को और बढ़ाया सकता है, कुछ कंपनियां अतिरिक्‍त पायलट और स्‍टाफ तैनात कर ऐसा कर रही हैं.

ये भी पढ़ें: एयरपोर्ट से पूरे साल में नहीं उड़ा एक भी यात्री, तीन उड़ानें गईं खाली, जानें देश के ऐसे एयरपोर्ट

वो बताते हैं चार्टर प्‍लेन की मांग बढ़ने की वजह से कस्‍टरों को मना करना पड़ रहा है. मांग को देखते हुए कई कपंनियां चार्टर प्‍लेन की संख्‍या बढ़ाने की तैयारी कर रही हैं. इतना ही नहीं, ग्‍लोबल मार्केट र्चाटर प्‍लेन की कीमत में इजाफा हुआ है. गुलाब सिंह बताते हैं कि फ्यूल की कीमत बढ़ने की वजह से किराए में इजाफा हुआ है.

अगले तीन वर्षों में हवाई यात्रियों की संख्‍या दोगुनी से अधिक होगी, जाने एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया की रिपोर्ट

बिजनेस एयरक्रॉफ्ट ऑपरेटर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष आरके बाली बताते हैं कि मांग बढ़ने के दो प्रमुख कारण हैं, पहला तो लोग कोरोना की वजह से पिछले ढाई साल से बाहर निकल नहीं पा रहे थे, अब जब कोरोना का असर कम हुआ है तो लोग परिवार के साथ चार्टर लेकर घूमने निकल रहे हैं. वहीं, बड़ी कंपनियां पहले मीटिंग के लिए अधिकारियों को बिजनेस क्‍लास से भेजतीं थीं, लेकिन कोरोना की वजह से वो भी चार्टर प्‍लेन किराए पर लेकर मीटिंग के लिए भेज रही हैं. इस वजह से चार्टर प्‍लेन की मांग अचानक से बढ़ गयी हैं.

Tags: Aircraft operation, Civil aviation, Civil aviation sector, Ministry of civil aviation

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर