दिल्ली के LG से की मांग, सिविल डिफेंस भर्ती में NCC कैडेटों को प्राथमिकता मिले

सिविल डिफेंस वॉलिंटियर भर्ती में एनसीसी कैडेटों को प्राथमिकता देने की मांग तेजी से उठने लगी है. (File Photo)

दिल्ली के LG अनिल बैजल से सिविल डिफेंस की भर्ती में 18 वर्ष से अधिक उम्र के NCC के वर्तमान और पूर्व कैडेटों को प्राथमिकता देने की मांग की है. माना जाता है कि एनसीसी में एकता और अनुशासन का पाठ पढ़ाए जाने के साथ-साथ उन्हें सैन्य प्रशिक्षण भी दिया जाता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की दूसरी लहर के दौरान सिविल डिफेंस वॉलिंटियर (Civil Defence Volunteer) की डिमांड ज्यादा बढ़ गई है. ऐसे में अब वॉलिंटियर की भर्ती में एनसीसी के कैडेटों को प्राथमिकता देने की मांग भी तेजी से उठने लगी है.

    एनसीसी एलुमनी क्लब ऑफ दिल्ली के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल (LG Anil Baijal) से राजधानी में सिविल डिफेंस की भर्ती में 18 वर्ष से अधिक उम्र के एनसीसी (NCC) के वर्तमान और पूर्व कैडेटों को प्राथमिकता देने की मांग की.

    यह भी पढ़ें : NCC के कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी- नागरिक कर्तव्यों को निभाना हम सभी का दायित्व

    क्लब के अध्यक्ष गिरीश निशाना ने बताया कि एनसीसी में एकता और अनुशासन का पाठ पढ़ाए जाने के साथ-साथ उन्हें सैन्य प्रशिक्षण भी दिया जाता है, जो एनसीसी कैडेटों (NCC Cadets) के भविष्य में सदैव काम आता है.

    यह भी पढ़ें : NCC Rally 2021: एनसीसी की परेड में दिखी एकता और अनुशासन, प्रधानमंत्री ने दी शाबाशी
    क्लब के कोषाध्यक्ष कर्ण कपूर ने बताया कि एक सामान्य विद्यार्थी की अपेक्षा एक एनसीसी कैडेट ज्यादा अनुशासित और देशभक्ति की भावना से ज्यादा ओत-प्रोत होता है. क्लब के प्रशिक्षण सचिव विकास मेहता ने कहा कि एक एनसीसी कैडेट को हर परिस्थिति में रहना सिखाया जाता है. साथ ही उसे प्राथमिक उपचार समेत सामाजिक गतिविधियों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

    यह भी पढ़ें : NCC भवन में 225 कैडेटों को दी स्पेशल ट्रेनिंग, 5 दिवसीय सालाना ट्रेनिंग कैंप संपन्न

    क्लब के प्रेस सचिव सौम्य रॉय ने बताया कि एनसीसी एलुमनी क्लब ने उप-राज्यपाल से विशेष रूप से मांग की है कि वे दिल्ली के सभी जिलों में आगे से जब भी सिविल डिफेंस वॉलंटियर की भर्ती हो तो उसमें एनसीसी के वर्तमान और पूर्व कैडेटों को प्राथमिकता दी जाए.

    यह भी पढ़ें : रक्षा मंत्रालय ने UP के निजी स्कूलों को दी बड़ी सौगात, जानें कैसे बदलेगी छात्रों की 'किस्‍मत'

    क्लब के संयुक्त सचिव अवतार सिंह और पूर्व एनसीसी कैडेट व सिविल डिफेंस वॉलंटियर रजत कुमार ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आज तक इस तरह की कभी मांग नहीं उठी. उम्मीद है कि उप-राज्यपाल अगर इस मांग को मानते हैं तो कम से कम प्रशिक्षण में दिल्ली को अनुशासित सिविल डिफेंस वॉलंटियर मिल सकेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.