होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /प्रोफेसर की रिहाई की मांग को लेकर डीयू में प्रदर्शन, छात्रों के गुटों के बीच हुई झड़प

प्रोफेसर की रिहाई की मांग को लेकर डीयू में प्रदर्शन, छात्रों के गुटों के बीच हुई झड़प

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी परिसर में छात्रों के दो गुटों के बीच मारपीट हुई है. (फाइल फोटो)

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी परिसर में छात्रों के दो गुटों के बीच मारपीट हुई है. (फाइल फोटो)

प्रोफेसर जीएन साईंबाबा की रिहाई की मांग को लेकर भगत सिंह छात्र एकता मंच (बीएससीईएम) द्वारा दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय (Delh ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी में दो गुटों हुई झड़प
प्रोफेसर की रिहाई को लेकर हुआ था प्रदर्शन
दोनों गुटों के छात्र हुए घायल, शिकायत दर्ज

नई दिल्ली. दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) परिसर में वल्लभभाई पटेल चेस्ट इंस्टीट्यूट के पास बृहस्पतिवार को वामपंथी छात्र समूह और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से संबद्ध एबीवीपी के बीच हुई मारपीट में कई छात्र कार्यकर्ता घायल हो गए. दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर मारपीट करने का आरोप लगाया है. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने कहा कि उसने मौरिस नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई है. इस घटना पर पुलिस की ओर से तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

घटना प्रोफेसर जीएन साईंबाबा की रिहाई की मांग को लेकर भगत सिंह छात्र एकता मंच (बीएससीईएम) द्वारा किए जा रहे विरोध-प्रदर्शन के दौरान हुई. बीएससीईएम ने एक बयान में दावा किया कि दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में शांतिपूर्ण विरोध-प्रदर्शन के दौरान उनके सदस्यों पर हमला किया गया. हंगामे में बीएससीईएम के लगभग छह सदस्य और एबीवीपी के कुछ सदस्य कथित रूप से घायल हो गए. बीएससीईएम ने एक बयान में कहा, ‘आज सुबह से, हम जीएन साईबाबा की रिहाई के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस में प्रदर्शन कर रहे थे. शाम लगभग चार बजे एबीवीपी ने पटेल चेस्ट में छात्रों पर हमला किया, जिसमें बीएससीईएम के कई सदस्यों को चोटें आई हैं.’

दो गुटों ने एक-दूसरे पर मारपीट का लगाया है आरोप 

बीएससीईएम ने दावा किया कि जब वे हिंदू राव अस्पताल में इलाज कराने गए तो एबीवीपी के सदस्यों ने उन्हें घेर लिया. छात्र संगठन ने कहा, ‘उन्होंने (एबीवीपी के सदस्यों ने) घायलों का इलाज नहीं होने दिया और अस्पताल में हंगामा किया.’ इस बीच, एबीवीपी ने आरोप लगाया कि समूह ने एक महिला एबीवीपी कार्यकर्ता के साथ दुर्व्यवहार किया और उसके कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की. एबीवीपी ने एक बयान में कहा, ‘कुछ बाहरी वामपंथी असामाजिक तत्वों ने डीयू में पढ़ने वाले एबीवीपी के छात्र कार्यकर्ताओं पर अभद्र और अश्लील टिप्पणी की… उन्होंने हम पर लाठी-डंडों से हमला भी किया, जिसमें एबीवीपी के दो कार्यकर्ता घायल हो गए.’ एबीवीपी ने यह आरोप भी लगाया कि जब समूह के सदस्य महिला के बचाव में आए, तो बीएससीईएम के लोगों ने उनके लिए जातिवादी और लैंगिक टिप्पणियों का इस्तेमाल किया.

Tags: Akhil Bharatiya Vidyarthi Parishad (ABVP), Delhi University

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें