Home /News /delhi-ncr /

डेंगू के बढ़ते मामलों पर दिल्ली HC की फटकार, कहा-प्रशासन को पूरी तरह से लकवा मार गया है

डेंगू के बढ़ते मामलों पर दिल्ली HC की फटकार, कहा-प्रशासन को पूरी तरह से लकवा मार गया है

दिल्‍ली में इस साल नवंबर महीने में 6700 केस दर्ज किए गए हैं.

दिल्‍ली में इस साल नवंबर महीने में 6700 केस दर्ज किए गए हैं.

Dengue Cases in Delhi: सोमवार को दिल्ली में डेंगू से छह और लोगों ने जान गंवाई है, इस साल अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है. यह आंकड़ा पिछले छह वर्षों की तुलना में सबसे अधिक है. इससे पहले साल 2016 में दस लोगों की मौत हुई थी. सरकारी आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 2021 में डेंगू के कुल 8975 मामले दर्ज किए गए हैं.

अधिक पढ़ें ...

दिल्ली. दिल्ली में डेंगू के बढ़ते मामलों पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सख्ती दिखाई है. दिल्ली में बढ़ते डेंगू के मामले पर दिल्ली हाई कोर्ट ने प्रशासन को जमकर फटकार लगाई और तल्ख टिप्पणी भी की है. दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि प्रशासन को पूरी तरह से लकवा मार गया है. दिल्ली हाई कोर्ट ने मामले में वकील रजत अनेजा को एमिकस क्यूरी नियुक्त किया है.

साथ ही दिल्ली HC ने कहा कि शहर में बड़े पैमाने पर मच्छरों के प्रजनन के खतरे का मुद्दा है, जिसके परिणामस्वरूप हर साल मलेरिया, चिकनगुनिया और डेंगू जैसी बीमारी होती है. लेकिन प्रशासक प्रशासन नहीं चला पा रहे है, नीतियां केवल लोकलुभावन तरीके से बनाई जा रही हैं. दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि डेंगू को लेकर कोई परेशान नहीं है, कोई जवाबदेही नहीं है. अगर ऐसा होता है तो ऐसा होता है डेंगू आयेगा और जायेगा, लोग मरेंगे, हमारे पास इतनी बड़ी संख्या में आबादी है, किसी को कोई फर्क नहीं पडता है.दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि अगर चुनाव असली मुद्दों पर लड़ा जाए तो हमारा शहर पूरी तरह बदल जाएगा, लेकिन चुनाव इन पर लड़ा जा रहा है, क्या मुफ्त है?

जानकारी के अनुसार, सोमवार को दिल्ली में डेंगू से छह और लोगों ने जान गंवाई है, इस साल अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है. यह आंकड़ा पिछले छह वर्षों की तुलना में सबसे अधिक है. इससे पहले साल 2016 में दस लोगों की मौत हुई थी. सरकारी आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में 2021 में डेंगू के कुल 8975 मामले दर्ज किए गए हैं.

Tags: Delhi, Dengue death

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर