दिल्ली: COVID-19 से जूझ रहे उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया LNJP अस्पताल में भर्ती

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया अस्पताल में भर्ती
डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया अस्पताल में भर्ती

Manish Sisodia Health Update: उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल (LNJP) भर्ती हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 7:21 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी  दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia
) अस्पताल में अस्पताल में भर्ती हो गए हैं. बुखार और ऑक्सीजन की शिकायत के बाद दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में उप मुख्यमंत्री भर्ती हुए हैं. मालूम हो कि 14 सितंबर से वे कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित हैं. बता दें कि राजधानी दिल्ली में एक तरफ जहां आम लोग कोरोना से जंग लड़ रहे हैं, वहीं इस वायरस का संक्रमण नेताओं को भी परेशान किए हुए हैं. दिल्ली के कुल 70 विधायकों में से 12 विधायक अब तक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. संक्रमित होने वाले 12 विधायकों में से 10 सत्ताधारी दल आम आदमी पार्टी (AAP) के हैं, जबकि दो विधायक विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के

आम आदमी पार्टी के कोरोना संक्रमित होने वाले विधायक
1. विशेष रवि- करोल बाग
2.आतिशी- कालकाजी
3. राज कुमार आनन्द- पटेल नगर


4. प्रमिला टोकस- आर के पुरम
5. गिरीश सोनी- मादीपुर
6. राजेश गुप्ता- वजीरपुर
7. ऋतुराज- किराड़ी
8. मनीष सिसोदिया- पटपड़गंज
9. सत्येन्द्र जैन- शकूर बस्ती
10. सुरेंद्र कुमार-गोकुल पुर

भारतीय जनता पार्टी के कोरोना संक्रमित होने वाले विधायक
1. अजय महावर- घोंडा
2. मोहन सिंह बिष्ट- करावल नगर

दिल्ली सरकार का दावा

इधर, देश के अलग-अलग राज्यों से आ रही ऑक्सीजन की कमी के बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन  ने कहा कि दिल्ली में फ़िलहाल ऑक्सीजन की कमी नहीं है. मौजूदा स्थिति की बात करें तो अभी हफ़्तेभर का स्टॉक अस्पतालों में बचा है. हालांकि जैन ने कहा कि पहले के मुक़ाबले थोड़ी समस्या जरूर है. सत्येन्द्र जैन ने बताया कि दिल्ली में ऑक्सीजन की सप्लाई यूपी और राजस्थान से ही होती है. राजस्थान में पिछले कुछ समय से ऑक्सीजन में काफ़ी कमी आई है, इसलिए ऑक्सीजन सप्लायर को कहा गया है कि पहले राज्य की ज़रूरत को पूरा करें उसके बाद बाक़ी राज्यों में सप्लाई करें.

ये भी पढ़ें: पिथौरागढ़: जमींदोज हुआ घर तो राहत शिविर में ली पनाह, बरसात के बाद अब ठंड से होगा सामना

इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने बताया कि दिल्ली के अस्पतालों में 6 से 7 दिन तक के लिए ऑक्सीजन बचा है. लेकिन हमारा मानना है कि कम से कम 6 से 7 दिन का स्टॉक होना चाहिए, कुछ अस्पतालों में 7 दिन से भी कम है. इससे पहले, दिल्ली हाई कोर्ट ने AAP सरकार के उस फ़ैसले पर रोक लगा दी जिसमें सरकार ने 33 बड़े प्राइवेट अस्‍पतालों के 80 फीसदी ICU बेड COVID-19 मरीजों के लिए रिजर्व रखने की घोषणा की थी. हाईकोर्ट ने निजी हॉस्पिटलों की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार का आदेश अनुचित एवं नागरिकों के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज