लाइव टीवी

जामिया हिंसा मामले में मनीष सिसोदिया को मिली क्लीन चिट, जानें क्या है पूरा मामला
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 12:35 PM IST
जामिया हिंसा मामले में मनीष सिसोदिया को मिली क्लीन चिट, जानें क्या है पूरा मामला
फेक न्यूज मामले में मनीष सिसोदिया को मिली क्लीन चिट (फाइल फोटो)

मनीष सिसोदिया पर आरोप था कि उन्होंने जामिया हिंसा (Jamia Violence) के दौरान दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के जवान द्वारा डीटीसी बस में आग लगाने की फर्जी खबर फैलाई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 12:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फेक न्यूज मामले में सोमवार को दिल्ली पुलिस ने डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को क्लीन चिट दे दी. पुलिस ने एक्शन टेकन रिपोर्ट में कहा कि सिसोदिया ने वीडियो देखने के बाद ट्वीट के जरिये अपनी बात रखी थी. इसलिए इस पर कोई मामला नहीं बनता. दरअसल, सिसोदिया पर आरोप था कि उन्होंने जामिया हिंसा (Jamia Violence) के दौरान दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के जवान द्वारा डीटीसी बस में आग लगाने की फर्जी खबर फैलाई थी.

बता दें कि जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के दौरान फेक न्यूज शेयर करने के आरोप में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया पर दिल्ली की एक अदालत में आपराधिक शिकायत दर्ज की गई थी. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने यह शिकायत दर्ज करवाई थी. मनीष सिसोदिया पर जामिया हिंसा के दौरान दिल्ली पुलिस के जवानों पर बस जलाने का आरोप लगाते हुए एक वीडियो शेयर करने का आरोप लगाया गया था.



डीटीसी बस जलाने का आरोप
बीते दिसंबर में हुए जामिया हिंसा के दौरान दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की तरफ से सोशल मीडिया पर एक न्यूज शेयर की गई थी. इसमें उन्होंने दिल्ली पुलिस पर हिंसा के दौरान कथित तौर पर डीटीसी बस जलाने का आरोप लगाया था. सिसोदिया ने घटना का एक वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया था. सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए कहा था कि चुनाव में हार के डर से बीजेपी दिल्ली में आग लगवा रही है. सिसोदिया ने बीजेपी पर घटिया राजनीति करने और पुलिस के संरक्षण में आग लगाने का आरोप लगाया था.



नागरिकता कानून के खिलाफ छात्र कर रहे थे प्रदर्शन
नागरिकता संशोधन कानून पर जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी कैंपस में पिछले साल 15 दिसंबर को विरोध-प्रदर्शन हुआ था. इस दौरान हुई हिंसा और आगजनी में सराय जुलैना में तीन बसों में आग लगा गई दी थी. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने दमकल की गाड़ी में भी तोड़फोड़ भी की थी.

(रिपोर्ट- अमित सिंह)

ये भी पढ़ें: मेलानिया ट्रंप के साथ दिल्ली के स्कूल में नहीं दिखेंगे CM केजरीवाल और सिसोदिया, कार्यक्रम से दोनों के नाम हटे


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 12:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर