दिल्लीः सीवर की गंदगी में डिटर्जेंट मिला तो यमुना में पैदा हुआ जहरीला झाग
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्लीः सीवर की गंदगी में डिटर्जेंट मिला तो यमुना में पैदा हुआ जहरीला झाग
यमुना में जहरीले झाग को लेकर डीपीसीसी को एक हफ्ते में देनी है रिपोर्ट. (फाइल फोटो)

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) की यमुना नदी (Yamuna river) में प्रदूषण की निगरानी के लिए बनाई समिति ने दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (DPCC) को जहरीले झाग मामले की रिपोर्ट एक हफ्ते के भीतर देने का आदेश दिया.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी में बहने वाली यमुना नदी (Yamuna river) में जहरीला झाग देखे जाने की वजह का पता चल गया है. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) के मुताबिक डिटर्जेंट युक्त सीवर की गंदगी की वजह से नदी में जहरीले झाग देखे गए थे. डीपीसीसी ने यमुना नदी में प्रदूषण की निगरानी के लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) द्वारा नियुक्त समिति को यह जानकारी दी है. बोर्ड ने बताया कि जुलाई में नदी में देखे गए जहरीले झाग के लिए डिटर्जेंट युक्त सीवर की गंदगी जिम्मेदार है. आपको बता दें कि यमुना नदी में जहरीले झाग देखे जाने के बाद दिल्ली में प्रदूषण को लेकर लंबी बहस छिड़ गई थी.

राष्ट्रीय हरित अधिकरण के सेवानिवृत्त विशेषज्ञ सदस्य बीएस सजवान और दिल्ली की पूर्व मुख्य सचिव शैलजा चंद्रा वाली दो सदस्यीय यमुना निगरानी समिति के आदेश पर बोर्ड ने यह जानकारी दी है. समिति ने पिछले महीने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, डीपीसीसी और उद्योग आयुक्त से नदी में झाग के स्रोत का पता लगाने के लिए उचित कदम उठाने को कहा था. साथ ही एनजीटी ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भी कहा था.

डीपीसीसी ने यमुना निगरानी समिति को दी गई जानकारी में कहा है, 'धोबी घाट, फॉस्फेट डिटर्जेंट युक्त सीवर के गंदे पानी, उद्योगों का कचरा और बराज के समीप पानी के वेग को नदी में झाग बनने के लिए जिम्मेदार पाया गया है.' समिति ने डीपीसीसी को एक हफ्ते के भीतर विस्तृत रिपोर्ट देने के लिए कहा है. साथ ही उसने डीपीसीसी से दोषी उद्योगों, नालों की सफाई के लिए जिम्मेदार एजेंसियों और प्रदूषण फैला रहे व्यक्तियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने का भी आदेश दिया है. इसके अलावा निगरानी समिति ने इस मामले की विस्तृत अनुपालन रिपोर्ट 10 अगस्त तक देने के लिए कहा है. गौरतलब है कि COVID-19 की वजह से लागू लॉकडाउन के दौरान यमुना नदी के साफ होने की खबरें भी आई हैं. लेकिन इसके बीच नदी में जहरीले झाग देखे जाने से दिल्ली में प्रदूषण को लेकर फिर बहस छिड़ गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading