अपना शहर चुनें

States

धर्मेन्द्र प्रधान ओडिशा के हर विधानसभा क्षेत्र में करेंगे पदयात्रा

(फाइल फोटो- धर्मेंद्र प्रधान)
(फाइल फोटो- धर्मेंद्र प्रधान)

'जवाब मांगूची ओडिशा' यानी ओडिशा जवाब मांग रहा है. बीजेपी ने मिशन ओडिशा को अंजाम तक पहुंचाने के लिए ये अभियान शुरु किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2019, 9:22 AM IST
  • Share this:
'जवाब मांगूची ओडिशा' यानी ओडिशा जवाब मांग रहा है. बीजेपी ने मिशन ओडिशा को अंजाम तक पहुंचाने के लिए ये अभियान शुरु किया है. इसलिए इन दिनों केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के पांव दिल्ली में नहीं टिक रहे. चिंता ओडिशा की राजनीति की ज्यादा है लिहाजा ताबड़तोड़ रैलियां भी कर रहे हैं और पदयात्रा भी. इस अभियान के तहत उनकी पदयात्रा ओडिशा के हर विधानसभा क्षेत्र में जाएगी.

ओडिशा के जाजपुर जिले के बारी विधानसभा क्षेत्र में धर्मेन्द्र प्रधान की रथयात्रा पहंची तो वहां उमड़ी भीड़ को देख कर बीजेपी नेताओं का जोश और उत्साह दोनो दोगुने हो गए. प्रधान ने कहा कि राज्य के सभी 147 विधानसभा क्षेत्रों की सभी बस्तियों, मुहल्ला, बाजार, चौक, घर-घर से ये रथ निकलेगा और ओडिशा के लोगों से सवाल एकत्र करेगा. और नवीन बाबू की सरकार से इसका जवाब मांगेगा.

(यह भी पढ़ें- Loksabha election सर्वे: 2019 में त्रिशंकु लोकसभा के आसार, NDA को सिर्फ 233 सीटें!)



पीएम मोदी ने भी पिछले दो तीन महीनों में ओडिशा की कई यात्राएं कीं हैं और जवाब मांग रहा है ओडिशा अभियान के सिलसिले को शुरु किया है. पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री नवीन बाबू के लिए सवाल भी छोड़ा है कि ओडिशा के शिक्षक पढाने के बदले धरना क्यों दे रहे हैं और ओडिशा के लोगों को शुद्ध पानी क्यों नहीं मिल रहा है. इसी हमले की धार को तेज करते हुए धर्मेन्द्र प्रधान ने नवीन बाबू पर हल्ला बोला. प्रधान ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री को ओडिशा की मुश्किलों से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने राज्य के निवासियों से 9555227227 पर मिस्ड कॉल कर सवाल के जरिए जवाब मांगने की अपील की.
 (यह भी पढ़ें- ANALYSIS: क्या यूपी में बीजेपी का 'खेल' बिगाड़ पाएंगी प्रियंका गांधी?)

इस बार की दंगल में धर्मेन्द्र प्रधान सिर्फ आरोपों की झड़ी नहीं लगा रहे हैं. वो जानते हैं कि नवीन पटनायक को पटखनी देना आसान नहीं होगा. इसलिए आंकड़ों से लैस होकर आम आदमी के बीच पहुंच रहे हैं ताकि नवीन बाबू के विकास के दावों की पोल खोल सकें. कम से कम इस रथयात्रा और पदयात्रा के बहाने बीजेपी और धर्मेन्द्र प्रधान राज्य के हर विधानसभा क्षेत्र तक तो पहुंच ही जाएंगे और पार्टी उन्हें विकल्प के रुप मे पेश भी कर पाएगी.

ओडिशा में लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ होंगे. और बीजेपी की नजर ओडिशा में ज्यादा ज्यादा सीटें जीतने पर है. इसलिए धर्मेन्द्र बाबू लगातार ओडिशा में डेरा डाले बैठे हैं और पीएम मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ओडिशा पर ज्यादा ध्यान भी दे रहे हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज