लाइव टीवी

कांग्रेस से दिग्विजय सिंह का अलग राग- अदनान सामी को पद्मश्री दिए जाने पर कही ये बात
Bhopal News in Hindi

भाषा
Updated: January 27, 2020, 5:22 AM IST
कांग्रेस से दिग्विजय सिंह का अलग राग- अदनान सामी को पद्मश्री दिए जाने पर कही ये बात
दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैंने उन्हें भारतीय नागरिकता देने के लिए भारत सरकार से उनके मामले की सिफारिश भी की थी. (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने कहा कि मैंने अदनान सामी को भारतीय नागरिकता देने के लिए सरकार से सिफारिश भी की थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. गायक अदनान सामी (Adnan Sami) को पद्मश्री (Padmashree) दिए जाने को लेकर कांग्रेस पार्टी दो फाड़ में बंट गई है. जहां पार्टी प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने अदनान सामी को पद्मश्री दिए जाने का विरोध किया है, वहीं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने उनका समर्थन किया है. उन्होंने सामी को पद्मश्री से सम्मानित किए जाने पर खुशी जताई है. सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि पद्म पुरस्कार के लिए चुने गए सभी लोगों को बधाई. मुझे खुशी है कि प्रसिद्ध गायक एवं संगीतकार और पाकिस्तानी मुसलमान प्रवासी अदनान सामी को भी पद्म श्री दिया गया है.

दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैंने उन्हें भारतीय नागरिकता देने के लिए भारत सरकार से उनके मामले की सिफारिश भी की थी. उन्हें मोदी सरकार ने भारतीय नागरिकता दी थी. सिंह ने कहा कि भारत सरकार को भारतीय नागरिकता चाहने वाले हर धर्म के किसी भी व्यक्ति को नागरिकता देने का पूरा अधिकार है, तो फिर कैब/सीएए क्यों? भारतीय राजनीति का केवल ध्रुवीकरण करने के लिए. यदि पाकिस्तान, अफगानिस्तान या बांग्लादेश में उत्पीड़न का शिकार हुआ उच्च प्रतिष्ठा वाला कोई व्यक्ति भारतीय नागरिकता चाहता है, तो भारत सरकार फिर क्या करेगी?



भारत के खिलाफ गोलाबारी की थी?
बता दें कि पार्टी प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने रविवार को तंज कसते हुए कहा था कि अब ‘भाजपा सरकार की चमचागिरी’ यह प्रतिष्ठित सम्मान दिए जाने का नया मानदंड बन गया है. उन्होंने यह सवाल भी किया कि ऐसा क्यों हुआ कि करगिल युद्ध में शामिल हुए सैनिक सनाउल्लाह को ‘घुसपैठिया’ घोषित कर दिया गया, जबकि उस सामी को पद्म सम्मान दिया जा रहा है जिसके पिता ने पाकिस्तानी वायुसेना में रहकर भारत के खिलाफ गोलाबारी की थी?आखिर ऐसी क्या जल्दबाजी थी
वहीं, कांग्रेस के अलावा महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने अदनान सामी को पद्मश्री दिए जाने का विरोध किया है. एमएनएस ने कहा है कि आखिर ऐसी क्या जल्दबाजी थी कि भारत की नागरिकता मिलने के 4 साल के भीतर ही अदनान सामी को पद्मश्री से नवाजा गया. MNS की सिनेमा इकाई अध्यक्ष एमे खोपकर ने ट्वीट किया, ‘अदनान सामी मूल रूप से भारतीय नागरिक नहीं हैं. MNS का मानना है कि उन्हें कोई पुरस्कार नहीं दिया जाना चाहिए. हम सामी को पद्मश्री दिए जाने का विरोध करते हैं और मांग करते हैं उनसे ये सम्मान वापस लिया जाए.’

ये भी पढ़ें- 

शहीद धर्मेंद्र सिंह के बेटे ने दी मुखाग्नि, बोला- पिता का सपना करुंगा पूरा

शादीशुदा महिला को हुआ 21 साल के लड़के से प्यार, नहीं मिली मंजिल तो...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 5:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर