Home /News /delhi-ncr /

RSS नेता इंद्रेश कुमार के राहुल गांधी पर किए तंज पर दिग्विजय का पलटवार, कहा- वह भाग्यशाली मोदी सरकार सत्ता में आई

RSS नेता इंद्रेश कुमार के राहुल गांधी पर किए तंज पर दिग्विजय का पलटवार, कहा- वह भाग्यशाली मोदी सरकार सत्ता में आई

राहुल गांधी पर आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार के तंज पर अब दिग्विजय सिंह ने जवाब दिया है.

राहुल गांधी पर आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार के तंज पर अब दिग्विजय सिंह ने जवाब दिया है.

आरएसएस के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने राहुल गांधी के बारे में कहा था कि उन्हें हिंदू और हिंदुत्व के बारे में ज्ञान कम है. उन्होंने कहा था कि हिंदुत्व के बिना, एक हिंदू का अस्तित्व नहीं हो सकता. हिंदू और हिंदुत्व के शब्दों के बीच अंतर करके, राहुल गांधी ने शरीर से उसकी आत्मा को अलग कर दिया. उनके पास बहुत कम ज्ञान और समझ है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) नेता इंद्रेश कुमार क द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर किए गए तंज पर अब दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) कूद पड़े हैं. उन्होंने आज पलटवार करते हुए कहा कि “मैं इस बात से अच्छी तरह वाकिफ हूं कि अजमेर दरगाह शरीफ विस्फोट की FIR में इंद्रेश कुमार का नाम दर्ज था. वह भाग्यशाली हैं कि मोदी सरकार सत्ता में आई नहीं तो वह उस स्थान पर होते जहां अन्य हैं.”

    दिग्विजय सिंह ने कहा कि “राहुल गांधी आज वह आवाज हैं जो गांधीवादी, नेहरूवादी विचारधाराओं का अनुसरण करते हैं. राजनीति के लिए धर्म को हथियार के रूप में इस्तेमाल करने वाले सभी लोग राहुल जी से ईर्ष्या करते हैं और उनसे डरते हैं. राहुल गांधी एक ऐसे परिवार से आते हैं जो कभी नहीं डरता और मजबूती से लड़ता है.”

    बता दें कि आरएसएस के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने संवाददाताओं से कहाकि “हिंदुत्व के बिना, एक हिंदू का अस्तित्व नहीं हो सकता. हिंदू और हिंदुत्व के शब्दों के बीच अंतर करके, राहुल गांधी ने शरीर से उसकी आत्मा को अलग कर दिया. उनके पास बहुत कम ज्ञान और समझ है.

    कर्नाटक में धर्मांतरण कानून को समर्थन: इंद्रेश कुमार

    इंद्रेश कुमार ने जबरन धर्मांतरण के खिलाफ कानून लाने के कर्नाटक सरकार के प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा है कि धर्म परिवर्तन से समाज में संघर्ष पैदा होता है और इससे देश की एकता तथा अखंडता को खतरा उत्पन्न होता है. आरएसएस के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संस्थापक एवं मुख्य संरक्षक कुमार ने न्यूज एजेंसी से बातचीत में ‘लव जिहाद’ को प्रतिबंधित करने के लिए कानून लाने की राज्य सरकार की योजना का भी समर्थन किया. कर्नाटक की भाजपा सरकार राज्य विधानमंडल के जारी शीतकालीन सत्र में धर्मांतरण रोधी विधेयक पेश कर सकती है.

    प्रस्तावित कानून में दंडात्मक प्रावधान होने की उम्मीद है, और यह इस बात पर भी जोर दे सकता है कि जो लोग कोई अन्य धर्म अपनाना चाहते हैं, उन्हें दो महीने पहले उपायुक्त के समक्ष आवेदन दायर करना होगा। इसके साथ ही, धर्म परिवर्तन का इच्छुक व्यक्ति अपने मूल धर्म और आरक्षण सहित इससे जुड़ी सुविधाओं या लाभों को खो सकता है। हालाँकि, उसे उस धर्म के लाभ प्राप्त होने की संभावना है, जिसमें वह धर्मांतरित होता है।

    धर्मांतरण पाप, अपराध और ईश्वर के साथ बेईमानी

    कर्नाटक सरकार के कदम के बारे में पूछे जाने पर आरएसएस नेता ने कहा, “किसी को भी दूसरे धर्म में परिवर्तित करना अमानवीय, असंवैधानिक है. यह धर्मों के बीच संघर्ष पैदा करता है. यह देश की एकता और अखंडता के लिए भी खतरा है. कुमार ने कहा, ‘धर्मांतरण पाप है, अपराध है और ईश्वर के साथ बेईमानी है. और यदि ऐसा ही चलता रहा तो सरकार को ऐसे अमानवीय, पापपूर्ण कृत्यों को रोकने के लिए कानून बनाना होगा.’

    उन्होंने कहा कि जो लोग इस कदम का विरोध करेंगे, उन्हें ‘ईश्वर के प्रति अविश्वासी’ माना जाना चाहिए. कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री वी सुनील कुमार ने 13 दिसंबर को कहा था कि आने वाले दिनों में ‘लव जिहाद’ पर रोक लगाने वाला कानून भी लाया जाएगा.

    (भाषा से इनपुट के साथ)

    Tags: Digvijay singh, Indresh Kumar, Rahul gandhi

    अगली ख़बर