लाइव टीवी

30 साल से विस्थापित कश्मीरी पंडितों ने घाटी में एक स्थान पर बसाने की मांग की
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: January 20, 2020, 6:07 AM IST
30 साल से विस्थापित कश्मीरी पंडितों ने घाटी में एक स्थान पर बसाने की मांग की
केंद्र ने कश्मीरी पंडितों के लिए एक शहर बसाने के प्रस्ताव पर विचार किया था. (प्रतीकात्मक फोटो)

भट ने कहा कि आप हमारे घरों और कॉलोनियों की सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं, लेकिन प्रत्येक कश्मीरी पंडित को...

  • Share this:


जम्मू. कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) से पंडितों के पलायन के 30 साल पूरे होने के मौके पर समुदाय के लोगों ने सरकार से घाटी में एक स्थान पर उन्हें बसाने की मांग की है. ऑल स्टेट कश्मीरी पंडित कांफ्रेंस (ASKPS) के महासचिव टीके भट (TK Bhat) ने रविवार को कहा कि लगभग सभी कश्मीर पंडितों की भावना है कि घाटी में लौटने और पुनर्वास का एक ही विकल्प है कि सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ ‘एक स्थान पर बसाना.' उन्होंने कहा, ‘हमारी मुख्य चिंता घाटी में समुदाय की सुरक्षा है.’

सुरक्षा पहलु पर जोर देते हुए भट ने कहा, ‘आप हमारे घरों और कॉलोनियों की सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं, लेकिन प्रत्येक कश्मीरी पंडित को उस समय सुरक्षा देना संभव नहीं है, जब वे बाजार जा रहे हों. समुदाय के वापस जाने के लिए सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण पहलु है.’ प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता प्रोफेसर बी एल जुत्शी ने कहा, ‘एक स्थान पर निवास से समुदाय का राजनीतिक सशक्तिकरण होगा और हम इस राजनीतिक सशक्तिकरण की उम्मीद कर रहे हैं.’

शहर बसाने के प्रस्ताव पर विचार किया था

उल्लेखनीय है कि केंद्र की मोदी सरकार ने घाटी में कश्मीरी पंडितों के लिए एक शहर बसाने के प्रस्ताव पर विचार किया था, लेकिन उसे न केवल अलगावादियों, बल्कि कश्मीर की मुख्यधारा की पार्टियों के भी विरोध का सामना करना पड़ा था.

ये भी पढ़ें-  सहरिया वर्ग को सीएम गहलोत ने दी बड़ी सौगात, सरकारी नौकरियों के अवसर बढ़ाए

युवती साथ रोमांस करते पत्नी ने रंगेहाथ पकड़ा, पहले बनाई VIDEO फिर...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 5:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर