गाजियाबाद में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के डीएम ने बनाई टीम-9, जानें टीम के काम

कोरोना की तीसरी लहर का प्रभाव कम करने की कवायद

कोरोना की तीसरी लहर का प्रभाव कम करने की कवायद

गाजियाबाद प्रशासन ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए टीम 9 बनाई है, सभी टीमों को अलग-अलग जिम्‍मेदारी सौंपी गई है, जिससे कम से कम लोग प्रभावित हों.

  • Share this:

गाजियाबाद. कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए प्रदेश सरकार की तर्ज पर डीएम ने टीम-9 का गठन किया है. जिसमें शामिल अधिकारियों को विभिन्‍न जिम्मेदारी सौंपी गई हैं. हर टीम में प्रभारी अधिकारी के अलावा सहयोगी के तौर पर अन्य अधिकारी भी तैनात किए गए हैं ताकि संयुक्त प्रयासों से तीसरी लहर को नियंत्रित किया जा सके, जिससे कम से कम संख्‍य में लोग प्रभावित हों.

डीएम राकेश कुमार सिंह संभावित कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए टीम 9 का गठन किया है. जिससे दूसरी लहर जैसे हालात न बन सकें. पहली टीम अस्पतालों में आईसीयू, ऑक्सीजन युक्त बेड की व्यवस्था, अस्पतालों में मैनपावर की उपलब्धता, वैक्सीनेशन, चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण चिकित्सा व्यवस्था, दवाई, आइसोलेशन आदि की व्यवस्था, ऑक्सीजन प्लांट का काम देखेगी. पहली टीम सीडीओ अस्मिता लाल के नेतृत्व में बनाई गई है.

ये भी पढ़े: Ghaziabad में डीएम ने कार्यभार संभालते ही केबिन में लगवाया कंप्‍यूटर, जानें क्‍यों

दूसरी टीम की जिम्मेदारी जिले में एंबुलेंस सेवाओं को सुचारू रूप से सुनिश्चित कराना, कंट्रोल रूम की व्यवस्था, समीक्षा, आवश्यक दवाओं के अलावा रेमडेसीवर, टोलीजुकमा की आपूर्ति निर्धारित करना, होम कोरेनटाइन में रह रहे मरीजों को मेडिकल किट वितरित कराना शामिल होगा.
तीसरी टीम की जिम्‍मेदारी शासन से महत्वपूर्ण कोविड-19 को मुद्दों पर समन्वय करने की जिम्‍मेदारी दी गई हैं.
चौथी टीम का काम जिले की औद्योगिक इकाईयों का सभी दिन व व्यवसायिक इकाईयों का बंदी के दिनों को छोड़कर संचालन कराना, सभी इकाईयों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना करना, इकाईयों में कार्यरत कर्मियों को वेतन आदि समस्या का निस्तारण करना होगा.
पांचवीं टीम टीम की जिम्मेदारी गेंहू क्रय की सुचारू व्यवस्था सुनिश्चित कराना, किसानों को समय से भुगतान कराना, किसानों को समय से खाद, बीज आदि उपलब्ध कराना, गौश्रय स्थलों में भूसे, चारे आदि की व्यवस्था कराना, समिति यह भी सुनिश्चित को करेगी, जिससे आवश्यक सामग्री उचित मूल्यों पर मिलती रहे.
छठी टीम टीम का काम जिले में ऑक्सीजन की व्यवस्था करना, शासन व अन्य राज्यों, आपूर्तिकर्ताओं एवं ट्रांसपोर्टरों से समन्वय स्थापित करना होगा.
 सातवीं टीम का काम कामगारों के जनपद में आने पर रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर जांच, आवश्यक होने पर क्‍वारंटीइन की व्यवस्था करना होगा.
 टीम आठ का काम कन्टेनमेंट जोन में प्रभावी व्यवस्था कराए रखना और मास्क की अनिवार्यता सुनिश्चित करना होगा. साथ ही साप्ताहिक बंदी के आदेश का कड़ाई से पालन कराएंगे. जेल में साफ सफाई व सेनेटाइज कराना, ट्रेनिंग सेंटर, पीएसी बटालियन को सेनेटाइज करना व तैनात फोर्स को रिज़र्व के रूप में तैयार करना होगा, ताकि आवश्यकता पड़ने पर उन्हें तैनात किया जा सके.
 टीम 9 की जिम्मेदारी नगरायुक्त महेंद्र सिंह तंवर को दी गई है. टीम की जिम्मेदारी सभी नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता, सेनेटाइजेशन कराना, समीक्षा करना, निगरानी समितियों को सक्रिय रखना व नियमित रूप से उनकी समीक्षा करना, पब्लिक एड्रेस सिस्टम की व्यवस्था को लागू कराना व जिले में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित कराना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज