• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • गाजियाबाद के डीएम अपने रूम का गेट खुला रखते हैं और बार-बार बाहर देखते हैं, जानें क्‍यों ?

गाजियाबाद के डीएम अपने रूम का गेट खुला रखते हैं और बार-बार बाहर देखते हैं, जानें क्‍यों ?

 सांकेतिक फोटो

सांकेतिक फोटो

Ghaziabad के डीएम राकेश कुमार सिंह अपने रूम का गेट हमेशा खुला रखते हैं, गेट पर पुलिस की तैनाती हटा दी है, बार-बार गेट की ओर देखते हैं और गेट पर खड़े फरियादी को तत्‍काल बुलाकर शिकायत का समाधान कराते हैं.

  • Share this:
    गाजियाबाद. जिले के डीएम अपने रूम का गेट तब तक खुला रखते हैं, जब तक वो कुर्सी पर बैठे रहते हैं. इस दौरान बीच बीच में उनकी नजर गेट पर ही रहती है. वजह जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे. दरअसल डीएम राकेश कुमार सिंह रूम का गेट इसलिए खुला रखते हैं कि कोई भी फरियादी बगैर रुके सीधा आकर उनके मिल सके. यानी जब तक डीएम कुर्सी पर बैठे हैं, कोई भी सीधे मिल सकता है. इतना ही नहीं वो लगातार गेट के बाहर इसलिए देखते रहते हैं, क्‍योंकि लोग सीधा डीएम के कार्यालय में घुसने में हिचकिचाते हैं. बाहर खड़े फरियादी को तत्‍काल अंदर बुलाते हैं और उसकी समस्‍या का समाधान भी कराते हैं.
    गााजियाबाद के डीएम राकेश कुमार सिंह ने पूर्व की तरह गेट पर पुलिस कर्मी की तैनाती भी हटा दी है. उनका कहना है कि पुलिस को देखकर भी लोग रूम के अंदर घुसने की हिम्‍मत नहीं कर पाते हैं. डीएम कई बार सीमा से बाहर जाकर भी मदद करते हैं. सोमवार को एक महिला डीएम कार्यालय शिकायत लेकर पहुंची. लेकिन उसकी रूम के अंदर जाने की हिम्‍मत नहीं पड़ी. दोपहर में अपने कार्यालय से जाते समय डीएम ने जब महिला को खड़े देखा तो खुद उनके पास जाकर उनकी परेशानी पूछी.
    महिला ने बताया कि इंश्‍योरेंस कंपनी से संबंधित शिकायत है लेकिन कोई मदद नहीं कर रहा है. इस पर डीएम वापस लौटे. उन्होंने ना सिर्फ खुद महिला से उसकी शिकायत जानी, बल्कि उसका निस्तारण भी कराया. इतना ही नहीं समाधान नहीं होने तक उन्होंने कंपनी से इसका फीडबैक दिए जाने के भी निर्देश दिए हैं.  इस दौरान एक बैंक द्वारा भी इस मामले में लापरवाही की शिकायत मिलने पर डीएम ने बैंक के अधिकारियों को भी तलब किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज