Assembly Banner 2021

कोरोना वायरस अलर्टः खा सकते हैं चिकन-मटन, लेकिन इन बातों का रखें ध्यान

कोरोना वायरस की दहशत में लोग चिकन खाने से भी परहेज कर रहे हैं. सांकेतिक फोटो.

कोरोना वायरस की दहशत में लोग चिकन खाने से भी परहेज कर रहे हैं. सांकेतिक फोटो.

गंगाराम अस्पताल के सीनियर फिजिशियन डॉक्टर एम वाली (Dr. M. Wali) ने मटन और कोरोना वायरस (Coronavirus ) से जुड़ी सभी बातों को अफवाह बताया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus ) का डर चिकन-मटन (Chickan Mottan) खाने वालों में भी दिखाई दे रहा है. भारत (India) में कोरोना वायरस के पीड़ित मरीज सामने आने के बाद यह डर और बढ़ गया है. हांगकांग में एक ऐसा केस सामने आया जहां एक डॉग में उसके मालिक से कोरोना वायरस आ गया. जिससे यह साबित हुआ कि इंसान से जानवरों में यह वायरस जा सकता है. खास बात यह है कि देश में चिकन और बकरा के मीट की सबसे ज़्यादा खपत है. लेकिन गंगाराम अस्पताल (Ganga ram Hospital) के सीनियर फिजिशियन डॉक्टर एम. वाली ने मटन और कोरोना वायरस से जुड़ी सभी बातों को अफवाह बताया है.

इसलिए खाया जा सकता है चिकन-मटन- डॉ. वाली
पूर्व राष्ट्रपति डॉ शंकर दयाल शर्मा, आर. वेंकटरमन और प्रणब मुखर्जी के भी फिजीशियन रह चुके डॉक्टर एम वाली से न्यूज18 हिन्दी ने जब इस बारे में बात की तो उन्होंने बताया, यह सही है कि कोरोना वायरस इंसान से डॉग में जा सकता है. लेकिन यह भी सच है कि डॉग के मुकाबले दूसरे जानवरों में कोरोना वायरस के जाने की संभावनाएं कम हैं. दूसरी सबसे खास बात यह कि कोरोना वायरस लंग्स पर अटैक करता है और यह वहीं रहता है. यह मसल्स में नहीं जाता है. इसलिए आमतौर पर चिकन-मटन का जो हिस्सा हम खाने में इस्तेमाल करते हैं, उसे बिना किसी डर के खाया जा सकता है.

भूलकर भी न खाएं चिकन-मटन से बने यह आइटम
डॉक्टर एम वाली ने यह भी बताया कि बहुत सारे लोग चिकन-मटन से बनी कई तरह की वैराइटी का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन इस माहौल में चिकन-मटन खाते वक्त इस बात का बेहद ख्याल रखें कि भूलकर भी चिकन टिक्का, मटन टिक्का न खाएं. क्योंकि होता यह है कि टिक्का आग पर भूनकर बनाया जाता है. ऐसे में अगर ज़रा भी लापरवाही रह गई और वो थोड़ा सा भी कच्चा रह गया तो यह एक रिस्क है. इसलिए कोशिश करें कि चिकन-मटन को अच्छी तरह से पकाकर ही खाएं.





ये भी पढ़ें- 

इन शहरों को भी जल्द जोड़ा जा सकता है 6 हाईस्पीड रेल कॉरिडोर से

खुशखबरी! जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद प्राइवेट कंपनियों ने दिए 13 हजार करोड़ निवेश के प्रस्ताव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज