लाइव टीवी

अमेरिकी राष्ट्रपति के नाम पर दौलतपुर नसीराबाद ऐसे हो गया कार्टरपुरी!
Delhi-Ncr News in Hindi

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: February 23, 2020, 12:19 AM IST
अमेरिकी राष्ट्रपति के नाम पर दौलतपुर नसीराबाद ऐसे हो गया कार्टरपुरी!
कार्टरपुरी में जिमी कार्टर का हुआ था स्वागत (File Photo)

गुड़गांव के गांव कार्टरपुरी के साथ वहां के राष्ट्रपति रहे जिमी कार्टर का है इमोशनल संबंध. नोबेल शांति पुरस्कार विजेता कार्टर की मां नर्स रहते हुए इस गांव की एक हवेली में रुका करती थीं

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2020, 12:19 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक दिन बाद 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) भारत आ रहे हैं. उनके स्वागत के लिए देश तैयार है. दरअसल, भारत-अमेरिका संबंध (India US Relation) काफी पुराना है. इससे पहले भी वहां के  कई राष्ट्रपतियों का भारत में भव्य स्वागत हुआ है. इसके एक उदाहरण से हम आपको रूबरू करवा रहे हैं. यह बात है 3 जनवरी 1978 की. जब संयुक्त राज्य अमेरिका के 39वें राष्ट्रपति जिमी कार्टर गुरुग्राम (हरियाणा) के एक गांव में आए थे. इस तारीख से पहले इसका नाम दौलतपुर नसीराबाद था. लेकिन उनके आने के बाद इसका नाम कार्टरपुरी रख दिया गया.

कार्टर का यहां से क्या है रिश्ता

कार्टरपुरी के लोगों ने नोबल पुरस्‍कार विजेता जिमी कार्टर से रिश्‍ते के बारे में बताया. वहां के लोगों के मुताबिक ‘जिमी कार्टर की मां लेडी लिलियन गोर्डी कार्टर एक रजिस्टर्ड नर्स थीं. वह दूसरे वर्ल्‍ड वार के दौरान मिशनरी के साथ भारत में थीं. वह इस गांव के जेलदार सरफराज की हवेली पर अक्सर आती थीं. जब उनकी मां यहां थीं तो जिम्‍मी उनके गर्भ में थे.

donald trump india visit 2020, American president, nobal awardee jimmy carter, American president, carterpuri, gurgaon, india us relations, डोनाल्ड ट्रंप, जिम्मी कार्टर, कार्टरपुरी, जिमी कार्टर, डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा, गुरुग्राम, गुड़गांव, ट्रंप टावर गुरुग्राम, trump tower gurgaon
1978 में गुड़गांव दौलतपुर नसीराबाद गांव का नाम कार्टरपुरी किया गया (Photo by Om Prakash)




इसीलिए उन्होंने ही जिमी कार्टर को जीवन में कभी भी भारत जाने पर दौलतपुर नसीराबाद आने के लिए कहा था. इसलिए कार्टर राष्‍ट्रपति बनने के बाद अपनी पत्नी रोजलीन कार्टर के साथ जनवरी 1978 में दौलतपुर नसीराबाद पहुंचे. उनके साथ तत्‍कालीन प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई भी थे.

2017 में हमने गांव में जाकर वहां के ताराचंद और डॉ. मनोहर नंबरदार से इस बारे में बातचीत की थी. तब नंबरदार ने बताया था कि जब कार्टर आए थे उस वक्‍त उनकी पत्‍नी वीरवती ने रोजलीन कार्टर का चुंदरी ओढ़ाकर स्‍वागत किया था. जहां इस गांव की चौपाल है वहीं पर जिम्‍मी और उनके साथ आए करीब दो सौ लोगों के प्रतिनिधिमंडल का स्‍वागत हुआ था. चौपाल पर वो हवेली थी जिसमें जिम्‍मी की मां रुका करती थीं. बदलते वक्‍त के साथ तीन मंजिला हवेली खत्‍म हो गई. लेकिन लोगों के जहन में अमेरिका से जुड़ी यहां की यादें अक्‍सर ताजा हो उठती हैं.

donald trump india visit 2020, American president, nobal awardee jimmy carter, American president, carterpuri, gurgaon, india us relations, डोनाल्ड ट्रंप, जिम्मी कार्टर, कार्टरपुरी, जिमी कार्टर, डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा, गुरुग्राम, गुड़गांव, ट्रंप टावर गुरुग्राम, trump tower gurgaon
कभी इसी जगह थी हवेली जहां नर्स के रूप में आती थीं कार्टर की मां (File Photo)


गुरुग्राम से ट्रंप का है कारोबारी रिश्ता

मौजूदा अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का गुरुग्राम से नाता उनके प्रॉपर्टी कारोबार के जरिए जुड़ा है. ट्रंप आर्गेनाइजेशन ने 13 अप्रैल 2016 को भारतीय बिल्‍डर आइरियो के साथ गुरुग्राम के प्रॉपर्टी कारोबार में 1000 करोड़ रुपये लगाए थे. जिसके तहत उसे यहां करीब 7 लाख वर्गफुट में एक अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर के ऑफिस टावर का निर्माण करना था.

 

ये भी पढ़ें: ...जब देश के सबसे पिछड़े जिले में नहीं बनने दिया गया ट्रंप विलेज, ये है पूरा मामला!

मुफ्त बांटने में AAP ही नहीं BJP की मोदी, योगी, खट्टर सरकार भी कम नहीं!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 23, 2020, 12:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर