डॉ. हर्ष वर्धन बोले-स्‍वास्‍थ्‍य की दिशा में विश्‍व के लिए सफल मॉडल विकसित करने वाला संस्थान बने पीजीआई

डॉ. हर्ष वर्धन ने आज पोस्‍ट ग्रेजुएट इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एण्‍ड रिसर्च चंडीगढ़ में विभिन्‍न सुविधाओं का शुभारंभ किया.

डॉ. हर्ष वर्धन ने आज पोस्‍ट ग्रेजुएट इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एण्‍ड रिसर्च चंडीगढ़ में विभिन्‍न सुविधाओं का शुभारंभ किया.

केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि पीजीआई सभी के लिए स्‍वास्‍थ्‍य की दिशा में काम करते हुए विश्‍व के लिए सफल मॉडल विकसित करने का गौरवशाली कार्य करेगी. इसके अलावा यह अन्‍य संस्‍थानों को राह दिखाएगी. उन्‍होंने यह भी कहा कि बहुत कम समय में वैक्‍सीन का विकास भी अत्‍यंत संतोष का विषय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 4:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केन्‍द्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन (Union Health Minister Dr. Harsh Vardhan) ने कहा कि पीजीआईएमईआर चंडीगढ़ (PGINER Chandigarh) भारत का प्रमुख चिकित्‍सा संस्‍थान है जो देश के सभी पांच उत्‍तरी राज्‍यों को विशेष चिकित्‍सा सेवाएं प्रदान कर रहा है.

केन्‍द्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि पीजीआई को नई यात्रा शुरू और वैज्ञानिक समुदाय के लिए नई सोच तय करनी चाहिए. इससे संस्‍थान को विशाल रूप लेने में मदद मिलेगी.

मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि पीजीआई सभी के लिए स्‍वास्‍थ्‍य की दिशा में काम करते हुए विश्‍व के लिए सफल मॉडल विकसित करने का गौरवशाली कार्य करेगी. इसके अलावा यह अन्‍य संस्‍थानों को राह दिखाएगी. उन्‍होंने यह भी कहा कि बहुत कम समय में वैक्‍सीन (Vaccine) का विकास भी अत्‍यंत संतोष का विषय है.

Youtube Video

ओएचसी- पीजीआईएमईआर के बारे में बात करते हुए उन्‍होंने कहा कि इस रिसोर्स सेंटर का एकमात्र उद्देश्‍य चंडीगढ़ में शिशुओं और वृद्धों के लिए ओरल हेल्‍थ देखभाल प्रदान करने के लिए एक मॉडल तैयार करना है.

इस तरह इस मॉडल को पूरे राष्‍ट्र में अपनाए जाने के लिए राष्‍ट्रीय ओरल हेल्‍थ कार्यक्रम को बढ़ावा देना है. केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा कि संस्‍थान में ओएचएससी देश में ओरल डिसीज बोझ में कमी लाने में सहायक सिद्ध होगा.

विश्‍व ओरल हेल्‍थ दिवस के अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने बताया है कि राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन (National Health Mission) के अंतर्गत राष्‍ट्रीय ओरल हेल्‍थ कार्यक्रम (National Oral Health Program) शुरू किया गया है. इसका उद्देश्‍य सभी के लिए ओरल हेल्‍थ सुनिश्चित करने के लिए सुव्‍यवस्थित तरीके से वाजिब सुलभ पहुंच और समान ओरल हेल्‍थ सुविधा प्रदान करना है.



दरअसल, डॉ. हर्ष वर्धन ने आज पोस्‍ट ग्रेजुएट इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एण्‍ड रिसर्च चंडीगढ़ में विभिन्‍न सुविधाओं का शुभारंभ किया. उन्‍होंने नेशनल रिसोर्स सेंटर फॉर ओरल हेल्‍थ केयर ऑफ चिल्‍ड्रेन एण्‍ड एल्‍डरली, एडवांस्‍ड पीईटी सीटी सुविधा, एडवांस्‍ड वेस्‍कुलर इंटरवेंशनल लैब, 384 स्‍लाइस डुअल सोर्स सीटी स्‍कैन और रिफरेक्‍टिव सर्जरी स्‍यूट (स्‍माइल) सुविधाओं का संस्‍थान के विभिन्‍न विभागों में उद्घाटन किया.

एडवांस्‍ड वेस्‍कुलर इंटर वेंशन लैब के बारे में उन्‍होंने बताया कि पीजीआईएमईआर में कैथ लैब अपने किस्‍म की पहली है जिसमें हाई टेक कृत्रिम बुद्धिमत्‍ता सॉफ्टवेयर आघात वाले रोगियों के प्रबंधन के लिए महत्‍वपूर्ण है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीजीआई ने 384 स्‍लाइस डुएल सोर्स प्राप्‍त किया है जोकि विश्‍व में सबसे अधिक शक्तिशाली और सबसे तेज स्‍टेट ऑफ द आर्ट सिटी स्‍कैन मशीन है. यह ट्रामा के नाजुक मरीजों के लिए फायदेमंद होगी और मुश्किल से श्‍वास लेने वाले बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य सुधार के लिए भी काम करेगी. उन्‍होंने यह भी कहा कि हाल ही में प्राप्‍त किया गया स्‍टेट ऑफ द आर्ट फेंटो सैकेंड लेजर विजुमेक्‍स भी पीजीआई के लिए महत्‍वपूर्ण साबित होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज