होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

दिल्ली-NCR में महंगा हुआ आशियाने का सपना, चार महीने में 10% बढ़ गए दाम

दिल्ली-NCR में महंगा हुआ आशियाने का सपना, चार महीने में 10% बढ़ गए दाम

दिल्ली-एनसीआर में आवास की कीमतों में सबसे अधिक 10 फीसदी की वृद्धि हुई.

दिल्ली-एनसीआर में आवास की कीमतों में सबसे अधिक 10 फीसदी की वृद्धि हुई.

रियल एस्टेट क्षेत्र की शीर्ष संस्था क्रेडाई, सलाहकार कोलियर्स इंडिया और डेटा विश्लेषण फर्म लियासेस फोरास की यह रिपोर्ट आठ प्रमुख शहरों - दिल्ली-एनसीआर, मुंबई महानगरीय क्षेत्र (एमएमआर), चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद के रुझानों पर आधारित है. रिपोर्ट का शीर्षक 'हाउसिंग प्राइस-ट्रैकर रिपोर्ट 2022' है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. घरों की मांग में तेजी और निर्माण लागत बढ़ने से दिल्ली-एनसीआर सहित देश के आठ प्रमुख शहरों में आवासीय संपत्ति की कीमतों में अप्रैल-जून तिमाही के दौरान औसत पांच फीसदी की वृद्धि हुई. इस दौरान दिल्ली-एनसीआर में आवास की कीमतों में सबसे अधिक 10 फीसदी की वृद्धि हुई. एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई.

रियल एस्टेट क्षेत्र की शीर्ष संस्था क्रेडाई, सलाहकार कोलियर्स इंडिया और डेटा विश्लेषण फर्म लियासेस फोरास की यह रिपोर्ट आठ प्रमुख शहरों – दिल्ली-एनसीआर, मुंबई महानगरीय क्षेत्र (एमएमआर), चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद के रुझानों पर आधारित है. रिपोर्ट का शीर्षक ‘हाउसिंग प्राइस-ट्रैकर रिपोर्ट 2022’ है.

रिपोर्ट में कहा गया कि 2022 की दूसरी तिमाही के दौरान भारत में आवास कीमतें महामारी से पहले के स्तर को पार कर गईं. इससे संकेत मिलता है कि घर की मांग काफी तेज है और आपूर्ति पूरी तरह मांग के अनुरूप है.

रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर के संपत्ति बाजार में आवास की कीमतों में सबसे ज्यादा 10 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि देखी गई, जहां एक वर्ग फुट एरिया की औसत कीमत ₹7,434 रुपये रही. ये कीमतें कारपेट एरिया पर आधारित हैं.

Tags: Delhi news, Own flat

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर