गाजियाबाद का दूधेश्‍वरनाथ मंदिर आज से भक्‍तों के लिए खुला, निगेटिव रिपोर्ट या वैक्‍सीन लगवाने का सर्टिफिकेट अनिवार्य

सांकेतिक फोटो

सांकेतिक फोटो

गाजियाबाद में लगातार कम हो रहे कोरोना मरीजों की संख्‍या को देखते हुए मंगलवार से शहर का प्राचीन दूधेश्‍वरनाथ मंदिर भक्‍तों के लिए कुछ शर्तों के साथ खोल दिया गया.

  • Share this:

गाजियाबाद. जिले में लगातार कम हो रहे कोरोना मरीजों की संख्‍या को देखते हुए मंगलवार से शहर के प्राचीन दूधेश्‍वरनाथ मंदिर को भक्‍तों के लिए खोल दिया गया. मंदिर में प्रवेश के लिए प्रबंधन ने कुछ शर्तें रखी हैं, जिन्‍हें अनिवार्य रूप में पूरा करना होगा. इसके बाद ही मंदिर में एंट्री मिलेगी. भक्‍तों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा.

जिले में 600 से कम कोरोना पाजिटिव मामले आने के बाद से सोमवार से जिले को अनलॉक करने की प्रक्रिया शुरू की गई है. इसी क्रम में मार्केट, सरकारी और गैरसरकारी प्रतिष्‍ठान खोल दिए गए हैं. मंगलवार को प्राचीन दूधेश्‍वरनाथ मंदिर के द्वार भी भक्तों के लिए खोल दिए गए. कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मंदिर में प्रवेश के लिए कुछ शर्त रखी गई है, जिन्‍हें पूरा करने वाले श्रद्धालु ही दूधेश्‍वरनाथ मंदिर में प्रवेश कर पाएंगे. जिन्होंने वैक्सीन ले ली है, उन्‍हें उसका सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा. अगर किसी भक्त ने वैक्सीन की डोज नहीं ली है तो ऐसी स्थिति में उन्हें 72 घंटे के भीतर का आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट (RT-PCR Negative Report) दिखानी होगी. मंदिर के द्वार भक्तों के लिए सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक खुलेंगे. एक बार में मंदिर के भीतर सिर्फ 5 भक्तों को एंट्री दी जा रही है. मंदिर को पूरी तरह से सैनिटाइज करा दिया गया है. मास्क और 2 गज की दूरी भी अनिवार्य रूप से जरूरी है.

मंदिर के श्रीमहंत नारायण गिरि ने बताया कि कोरोना के खिलाफ चल रही जंग को सभी के सहयोग से जागरूक होकर ही जीता जा सकता है. वैक्सीन कोरोना के खिलाफ सबसे कारगर हथियार है. श्रद्धालुओं को मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और मास्क का प्रयोग अनिवार्य किया जाएगा. मंदिर को रोजाना रात में सैनीटाइज कराया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज