DTC में अब तक 50 की कोरोना से मौत, सरकार से कहा-कोरोना योद्धा घोषित करें, 1 करोड़ की सम्मान राशि दें

DTC में भी अब तक कोरोना से करीब 50 कर्मचारियों की मौत होने की खबर है.  (File Photo)

DTC में भी अब तक कोरोना से करीब 50 कर्मचारियों की मौत होने की खबर है. (File Photo)

COVID Deaths in Delhi: दिल्ली परिवहन निगम में अब तक कोरोना से करीब 50 कर्मचारियों की मौत होने की खबर है. मौतों पर अब कर्मचारी यूनियन ने इन सभी कर्मचारियों को कोरोना योद्धा घोषित करने की मांग की है. उनके परिवार को 1 करोड़ रूपए आर्थिक सहायता केे रूप में केजरीवाल सरकार द्वारा दिये जाने का आग्रह किया.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) संक्रमण से अब तक 20,907 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं सरकारी महकमों में भी कर्मचारी हर रोज कोरोना से होने वाली मौतों के शिकार हो रहे हैं. दिल्ली परिवहन निगम (Delhi Transport Corporation) में भी अब तक कोरोना से करीब 50 कर्मचारियों की मौत होने की खबर है. लगातार डीटीसी कर्मचारियों की हो रही मौतों पर अब कर्मचारी यूनियन ने इन सभी कर्मचारियों को कोरोना योद्धा घोषित करने की मांग की है.

डीटीसी कर्मचारी एकता यूनियन का कहना है कि निगम में अभी तक इस कोरोना काल में लगभग 50 कर्मचारी अपनी जान गवां चुके हैं. लेकिन डीटीसी विभाग व दिल्ली सरकार (Delhi Government) कर्मचारियों को कोरोना योद्धा घोषित क्यों नहीं कर रही है. हर एक डिपो में लगभग इसी बात को लेकर बहुत से कर्मचारी छुट्टी पर रहते हैं कि ड्यूटी पर रहते हुए इनकी जान चली गई तो उनको सरकार व विभाग की तरफ से कोई आर्थिक सहायता नहीं मिलेगी.

यूनियन के कार्यकारिणी अध्यक्ष मनोज शर्मा ने कहा कि डीटीसी कर्मचारी इस कोरोना काल में फ्रंट लाइन वर्कर की तरह काम कर रहा है. कर्मचारी मरकज के मरीजों को ले जाने, DTC कैट्स एंबुलेंस चलाने, DTC ऑक्सीजन सिलेंडर लाने व ले जाने, दिल्ली से पलायन करते प्रवासी मजदूरों को ले जाने और तो और मुर्दों को भी ले जाने के लिए DTC का ही नाम आगे कर दिया जाता है. और जब वैक्सीन लगने की बारी आती है तो फ्रंटलाइन वर्कर की लिस्ट में DTC का कहीं पर भी कोई नाम नहीं होता है.

शर्मा ने विभाग व सरकार से अपील की है कि डीटीसी केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) का खुद का विभाग है. इस कोरोना काल में अगर सरकार डीटीसी कर्मचारियों को कोरोना योद्धा का दर्जा देगी और शहीद होने पर उनके परिवार को सम्मान राशि देती है तो डीटीसी के सभी कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर आएंगे. पूरी लगन से बिना किसी परवाह के जनता की सेवा करेंगे.
महामंत्री ललित चौधरी ने कहा कि केजरीवाल सरकार अन्य विभागों के कर्मचारियों को 1 करोड रूपए की सम्मान राशि देती हैं जबकि वह विभाग केजरीवाल सरकार के दायरे से बाहर आते है. वहीं, डीटीसी विभाग तो केजरीवाल सरकार का खुद का विभाग है.

यूनियन ने यह भी आग्रह क‍िया है कि कर्मचारियों को कोरोना योद्धा का दर्जा दिया जाए और उनके परिवार को 1 करोड़ रूपए आर्थिक सहायता केजरीवाल सरकार द्वारा दिया जाए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज