कोरोना से बिगड़ रहे दिल्ली के हालात, सीएम केजरीवाल ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग! जानिए किन-किन मसलों पर होगी चर्चा?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कल इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कल इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है.

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कल शुक्रवार शाम 4 बजेइमरजेंसी मीटिंग बुलाई है. मीटिंग में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के अलावा स्वास्थ्य विभाग और अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहेंगे. कोरोना केस की रोकथाम के लिए एक्शन प्लान, वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति, कंटेनमेंट जोन, अस्पतालों में बेड्स के प्रबंधन और सीरो सर्वे के साथ-साथ वर्तमान में कोरोना केस की मैपिंग आदि को लेकर समीक्षा करेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर अब दिल्ली सरकार (Delhi Government) भी पूरी तरीके से हरकत में आ गई है. बढ़ते मामलों को लेकर अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कल इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है.

सीएम आवास पर शुक्रवार शाम 4 बजे बुलाई गई इस इमरजेंसी मीटिंग में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के अलावा स्वास्थ्य विभाग और अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहेंगे.

बताया जाता है कि सीएम अरविंद केजरीवाल कल शुक्रवार को इमरजेंसी मीटिंग में कोरोना केस की रोकथाम के लिए एक्शन प्लान, वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति, कंटेनमेंट जोन, अस्पतालों में बेड्स के प्रबंधन और सीरो सर्वे के साथ-साथ वर्तमान में कोरोना केस की मैपिंग आदि को लेकर समीक्षा करेंगे.

दिल्ली सरकार के मुताबिक सीएम केजरीवाल की ओर से सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को कोरोना से निपटने के लिए डिटेल प्लान के साथ मीटिंग में उपस्थित रहने के सख्त निर्देश दिए गए हैं
इस बीच देखा जाए तो दिल्ली समेत देशभर के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी रिकॉर्ड की जा रही है. वहीं दिल्ली की स्थिति को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल स्वयं गहन नजर बनाए हुए हैंऔर अधिकारियों से प्रतिदिन की अपडेट ले रहे हैं.

दिल्ली निवासियों को कोरोना की वजह से दिक्कतों का सामना न करना पड़े, इसके लिए सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हो गया है. और पिछले कुछ दिनों में विभाग ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं.

मसलन, मुख्यमंत्री के आदेश के बाद दिल्ली के 33 बड़े अस्पतालों में 25-25 फीसदी आईसीयू और सामान्य बेड्स बढ़ा दिए गए हैं. इन 33 अस्पतालों में 30 मार्च तक कोविड के 1705 समान्य बेड्स थे, जो अब बढ़ कर 2547 हो गए हैं. इस तरह 842 कोविड के सामान्य बेड्स बढ़ा दिए गए हैं.



इसी तरह, कोविड मरीजों के लिए 30 मार्च तक 608 आईसीयू बेड थे, जिसमें 230 बेड की वृद्धि की गई है और अब दिल्ली में कोविड के लिए 838 आईसीयू बेड हो गए हैं.

जिला स्तर पर सर्विलांस टीमें नजर बनाए हुए हैं.

सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर जिला स्तर पर सर्विलांस टीमें नजर बनाए हुई हैं. कोरोना से संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है. संक्रमितों के संपर्क में आए कम से कम 30 लोगों को ट्रेस किया जा रहा है और जांच कर उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है, ताकि उनके जरिए दूसरें लोगों में कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके.

बिना मास्क लगाए सार्वजनिक स्थनों पर जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश 

सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के बावजूद कुछ लोग सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहन कर जाने में लापरवाही बरत रहे हैं. मुख्यमंत्री ने बिना मास्क लगाए सार्वजनिक स्थनों पर जाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. जिला स्तर पर गठित टीमें ऐसे लोगों पर नजर रख रही हैं और बिना मास्क के पाए जाने पर उन पर आवश्यक कार्रवाई कर रही हैं.

वैक्सीनेशन सेंटर को बढ़ाकर 600 किया

सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर दिल्ली में 80 हजार से अधिक टेस्ट प्रतिदिन किए जा रहे हैं, ताकि कोरोना के फैलाव पर शीघ्र काबू किया जा सके. केजरीवाल सरकार अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन कराने को लेकर बेहद गंभीर है. सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर दिल्ली में वैक्सीनेशन सेंटर को बढ़ाकर 600 के आस-पास कर दिया गया है.

पंजीकरण नहीं करा पाने वाले 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले वैक्सीन लगवाए

आज से दिल्ली में 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए वैक्सीनेशन अभियान शुरू कर दिया गया है जो वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण नहीं करा पाए हैं, दिल्ली सरकार ने उन्हें भी वैक्सीन लगवाने के लिए सहूलियतें प्रदान कर दी हैं. ऐसे लोग दोपहर 3 बजे से रात 9 बजे के बीच किसी भी वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज