Lockdown: दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बोले- अरविंद केजरीवाल ने पहले बसों की अनुमति दी और फिर कैंसिल कर दी
Delhi-Ncr News in Hindi

Lockdown: दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष बोले- अरविंद केजरीवाल ने पहले बसों की अनुमति दी और फिर कैंसिल कर दी
Demo Pic.

दिल्ली कांग्रेस (Delhi Congress) के अध्यक्ष चौधरी अनिल सिंह का आरोप है जब मैंने निजी तौर पर 11 बसों (Bus) की अनुमति मांगी तो पहले तो अनुमति दे दी गई, लेकिन बाद में उस अनुमति को निरस्त कर दिया गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली कांग्रेस (Delhi Congress) के अध्यक्ष चौधरी अनिल सिंह ने अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है. उनका कहना है कि पहले तो दिल्ली सरकार लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान हमे 300 बसों (Bus) की अनुमति नहीं दे रही है, जिससे हम मजदूरों (Labour) को अपने खर्च पर उनके घर भेज सकें. सरकार के मंत्री का यह कहना है कि हमे कोई लैटर नहीं मिला है यह उनकी सियासत (Politics) और हठधर्मिता है. इतना ही नहीं जब मैंने निजी तौर पर 11 बसों की अनुमति मांगी तो पहले तो अनुमति दे दी गई, लेकिन बाद में उस अनुमति को निरस्त कर दिया गया. ये वक़्त श्रमिकों की मदद का है और इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए.

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत बोले मेरे पास नहीं आई है चिठ्ठी

न्यूज18 इंडिया ने जब दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत से कांग्रेस की ओर से 300 बसों की अनुमति मांगने के मामले पर सवाल किया गया तो उनका कहना था कि दिल्ली कांग्रेस की 300 बस मज़दूरों के लिए लगाने की चिट्ठी मेरे संज्ञान में नहीं है. जैसे ही चिट्ठी आएगी तो उस पर उचित कार्यवाही की जाएगी.



बसों को लेकर इसलिए सुर्खियों में आए चौधरी अनिल



बता दें कि 24 घंटे पहले ही चौधरी ने एक वीडियो शेयर किया था. इस वीडियो में चौधरी ने दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया था कि प्रवासी मजदूरों से बसों में भेजने के नाम पर 4-4 हजार रुपये लिए गए हैं. चौधरी ने वीडियो के जरिए केजरीवाल सरकार से जवाब मांगा था.

गौरतलब है कि दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष पिछले कई दिनों से सुर्खियों में चल रहे हैं. कुछ दिन पहले ही वह तब चर्चा में आए थे जब राहुल गांधी के साथ वह दिल्ली के सुखदेव विहार में प्रवासी मजदूरों से मिलने चले गए. दिल्ली पुलिस ने लॉकडाउन नियम तोड़ने के आरोप में घर में ही डिटेन किया था. बाद में उनकी गिरफ्तारी दिखाई गई. बाद में थाना से ही उनको जमानत मिल गई.

दिल्ली पुलिस ने एफआईआर में लिखा है कि अनिल चौधरी प्रवासी मजदूरों को लेकर गाजीपुर बॉर्डर पर बिना इजाजत के इकट्ठा हो गए. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया. अनिल चौधरी का कहना है कि हमे कहा गया है कि उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी मजदूरों की मदद करें, जो मैं कर रहा हूं.

ये भी पढ़ें:-

Lockdown: बसें सड़क पर हैं नहीं, ऑटो वाले एक सवारी से मांग रहे 5 का पैसा

 

Lockdown: आप सांसद संजय सिंह ने बताई दिल्ली से घर जाने वाले मजदूरों की संख्या, चाहिए इतनी ट्रेन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading