Assembly Banner 2021

Dwarka Expressway-आईजीआई एयरपोर्ट जाने वालों को अगले साल जाम से मिलेगी राहत, जानें कैसे ?

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को द्वारका एक्सप्रेसवे के काम का निरीक्षण किया.

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को द्वारका एक्सप्रेसवे के काम का निरीक्षण किया.

अगले साल से दिल्‍ली के लोगों को आईजीआई एयरपोर्ट (Airport) जाते समय जाम में नहीं फंसना पड़ेगा. इसके साथ ही, द्वारका के लोगों को भी राहत मिलेगी. इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) द्वारका एक्‍सप्रेस (Dwarka Expressway) का निर्माण करा रहा है,

  • Share this:
नई दिल्‍ली. अगले साल से दिल्‍ली के लोगों को एयरपोर्ट (Airport) जाते समय जाम में नहीं फंसना पड़ेगा. इसके साथ ही, द्वारका के लोगों को भी राहत मिलेगी. सड़क परिवहन मंत्रालय (Ministry of Road Transport) द्वारका एक्‍सप्रेस वे  (Dwarka Expressway) का निर्माण करा रहा है, जिनका करीब 53 फीसदी काम हो चुका है. बचा हुआ काम अगले साल अगस्‍त से पहले पूरा करने की डेड लाइन तय कर दी गई है. सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को प्रोजेक्‍ट का निरीक्षण के बाद यह घोषणा की है. उन्‍होंने कहा कि इस एक्‍सप्रेस वे (Expressway) के निर्माण के बाद एनएच 8 यानी जयपुर हाइवे से 50 फीसदी तक ट्रैफिक इसमें शिफ्ट हो जाएगा.

द्वारका एक्‍सप्रेस वे (Dwarka Expressway) की कुल लंबाई 29 किमी. है, जिसमें से 18.9 किमी. हरियाणा में और 10.1  किमी. दिल्‍ली  में आता है. इसका निर्माण चार फेज में किया जा रहा है. इसकी कुल लागत 9 हजार करोड़ रुपए है.  सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि हरियाणा के राज्‍य के तहत आने वाले प्रोजेक्‍ट का काम नवंबर 21 तक पूरा हो जाएगा और दिल्‍ली के तहत आने  वाले प्रोजेक्‍ट का काम अगले वर्ष 15 अगस्‍त का पूरा कर लिया जाएगा. इस तरह 15 अगस्‍त 2022 से पहले दिल्‍ली और हरियाणा के बॉर्डर के लोगों को जाम से राहत मिल जाएगी. मौजूदा समय इस एनएच 8 से रोजाना करीब 3 लाख वाहन गुजरते हैं, एक्‍सप्रेस वे बनने के बाद करीब 1.5 लाख वाहनों का दबाव हाईवे से कम हो जाएगा. इससे दिल्‍ली से एयरपोर्ट की ओर जाने वाले रोड पर ट्रैफिक कम हो जाएगा, जिससे जाम से राहत मिल जाएगी.  सड़क परिवहन मंत्री ने कहा कि दिल्‍ली एनसीआर में मौजूदा समय करीब 60 हजार करोड़ के सड़क के निर्माण का काम चल रहा है. निर्माण काम पूरा होने के बाद दिल्‍ली का प्रदूषण का स्‍तर भी कम हो जाएगा.

द्वारका एक्‍सप्रेस वे की खासियत



देश  का पहला अरबन एक्‍सप्रेस वे
देश की पहली 3.6  किमी. लंबी 8 लेन चौड़ी अरबन टनल

4 लेवल क्रासिंग( टनल, अंडरपास, एलेवेटेड फ्लाईओवर और फ्लाईओवर

देशका पहला एक पियर (खंभा) में 9 किमी. लंबा 8 लेन का फ्लाईओवर

देश में पहली बार निर्माण साइट से 12000 पेड़ों का ट्रांसप्‍लांटेशन

पूरी तरह आटोमैटिक टोलिंग सिस्‍टम

बुर्ज खलीफा से 6 गुना अधिक कंक्रीट का इस्‍तेमाल

एफिल टावर से 30 गुना अधिक स्‍टील का प्रयोग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज