Home /News /delhi-ncr /

east mcd officials said none security guard during the day shift and only 15 schools have cctv cameras

DCW के समन के बाद ईडीएमसी की खुली पोल, स‍िर्फ 15 स्‍कूलों में लगे CCTV कैमरे, द‍िन में नहीं होते स‍िक्‍युर‍िटी गार्ड!

ईडीएमसी ने डीसीडब्‍लू को बताया कि 232 स्कूलों में से केवल 15 स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे हैं, वह भी बाउंड्री पर और कक्षाओं के बाहर लगाए गए हैं.

ईडीएमसी ने डीसीडब्‍लू को बताया कि 232 स्कूलों में से केवल 15 स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे हैं, वह भी बाउंड्री पर और कक्षाओं के बाहर लगाए गए हैं.

MCD primary school sexual assault case: ईस्ट एमसीडी के अधिकारी आयोग के सामने पेश हुए और बताया कि उसके किसी भी स्कूल में दिन की पाली में सुरक्षा गार्ड नहीं है. उन्होंने आयोग को यह भी बताया कि 232 स्कूलों में से केवल 15 स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे हैं, वह भी बाउंड्री पर और कक्षाओं के बाहर लगाए गए हैं. उन्होंने बताया कि ईडीएमसी के सभी स्कूलों की बाउंड्री पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव अंतिम चरण में है.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. भजनपुरा के प्राइमरी स्‍कूल (Primary School run by MCD in Bhajanpura) में घट‍ित यौन उत्पीड़न (Sexual Assault) घटना के बाद अब दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) ने तीनों दिल्‍ली नगर न‍िगम (MCD) को समन जारी कर छात्रों की सुरक्षा के लिए स्कूलों द्वारा किए गए उपायों के बारे में ड‍िटेल र‍िपोर्ट मांगी है. आयोग के संज्ञान में भजनपुरा इलाके में एमसीडी (East MCD) द्वारा संचालित एक प्राथमिक विद्यालय के अंदर छात्राओं के साथ यौन उत्पीड़न का मामला आया था.

    पता चला कि स्कूल की सभा के बाद छात्र कक्षा के अंदर अपने शिक्षक का इंतजार कर रहे थे तभी एक अज्ञात व्यक्ति ने कक्षा में प्रवेश किया और कुछ छात्राओं का यौन शोषण किया. इस संबंध में आयोग ने कमिश्नर, ईस्ट एमसीडी को समन जारी किया था.

    एमसीडी स्‍कूल में छात्राओं के यौन उत्‍पीड़न मामले पर EDMC कम‍िश्‍नर तलब, DCW को 48 घंटे में देनी होगी ड‍िटेल र‍िपोर्ट 

    ईस्ट एमसीडी के अधिकारी आयोग के सामने पेश हुए और बताया कि उसके किसी भी स्कूल में दिन की पाली में सुरक्षा गार्ड नहीं है. उन्होंने आयोग को यह भी बताया कि 232 स्कूलों में से केवल 15 स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे हैं, वह भी बाउंड्री पर और कक्षाओं के बाहर लगाए गए हैं. उन्होंने बताया कि ईडीएमसी के सभी स्कूलों की बाउंड्री पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव अंतिम चरण में है.

    आयोग ने स्कूलों में दिन के समय सुरक्षा गार्डों की अनुपस्थिति और स्कूलों में सीसीटीवी कैमरों की कमी पर कड़ा संज्ञान लिया है. डीसीडब्ल्यू चेयरपर्सन स्‍वात‍ि मालीवाल (Swati Maliwal) ने कहा कि कक्षाओं सहित स्कूलों में सुरक्षा गार्ड और सीसीटीवी की कमी अस्वीकार्य है क्योंकि इसका स्कूलों में बच्चों और शिक्षकों की सुरक्षा और सुरक्षा पर सीधा असर पड़ता है.

    पु‍ल‍िस ने एफआईआर में पॉक्‍सो की धाराओं को जोड़ा
    इस बीच देखा जाए तो डीसीडब्ल्यू ने दिल्ली के भजनपुरा में एमसीडी स्कूल में लड़कियों के यौन उत्पीड़न के मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस भी जारी किया था और स्कूल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी. दिल्ली पुलिस द्वारा पेश क‍िए जवाब में, आयोग को सूचित किया गया है कि मामले की रिपोर्ट नहीं करने के लिए स्कूल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है. आयोग को सूचित किया गया है कि इसके लिए POCSO अधिनियम के तहत प्राथमिकी में संबंधित धाराएँ जोड़ी गई हैं.

    तीनों न‍िगमों के आयुक्‍तों को जारी क‍िया समन, मांगी र‍िपोर्ट
    ईस्ट एमसीडी द्वारा दी गई जानकारी पर कार्रवाई करते हुए डीसीडब्ल्यू ने तीन एमसीडी के आयुक्तों को समन जारी कर छात्रों की सुरक्षा की स्थिति की मांग की है. आयोग ने प्रत्येक एमसीडी द्वारा चलाए जा रहे स्कूलों का पूरा ब्योरा मांगा है. आयोग ने विद्यालय में दिन के समय उपस्थित सुरक्षा गार्डों की जानकारी सहित सभी विद्यालयों में शीघ्र सुरक्षा गार्डों की नियुक्ति के लिए उठाये गये कदमों की जानकारी भी मांगी गई है. आयोग ने सीसीटीवी कैमरे लगाने, कक्षाओं के अंदर कैमरे लगाने की समयसीमा और स्कूलों की चारदीवारी की स्थिति की सभी जानकारी तलब की है. आयोग ने स्कूलों के अंदर यौन उत्पीड़न/उत्पीड़न की शिकायतों से निपटने के लिए एमसीडी द्वारा स्थापित स‍िस्‍टम का विवरण भी मांगा है.

    एमसीडी स्‍कूल स्‍टॉफ का पूरा ब्‍यौरा क‍िया तलब
    इसके अलावा, आयोग ने स्कूल के कर्मचारियों जैसे प्रिंसिपल, शिक्षकों और परिचारकों, रिक्तियों की सूची और उन्हें भरने के लिए उठाए गए कदमों का विवरण भी मांगा है. आयोग ने सभी स्कूल स्टाफ के पुलिस वेरिफिकेशन का स्टेटस भी तलब क‍िया है.

    एक स्कूल एक बच्चे के लिए दूसरा घर होता है: स्‍वाति मालीवाल
    डीसीडब्ल्यू चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने कहा क‍ि एक स्कूल एक बच्चे के लिए दूसरा घर होता है. बच्चों को अपने स्कूलों में सबसे अधिक सुरक्षित महसूस करना चाहिए जो कि समग्र शिक्षा प्रदान करने वाले हैं. हालांकि, हाल ही में एक एमसीडी स्कूल में लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न की रिपोर्ट की गई घटना ने इन स्कूलों के अंदर बच्चों विशेषकर लड़कियों की सुरक्षा पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं. इसके अलावा, ईस्ट एमसीडी द्वारा प्रदान की गई जानकारी छात्रों की सुरक्षा और सुरक्षा की निराशाजनक स्थिति को दर्शाती है क्योंकि किसी भी स्कूल में सुरक्षा गार्ड नहीं है. यह अस्वीकार्य है और आयोग ने इस संबंध में एक जांच शुरू की है. इन स्कूलों को बच्चों के लिए सुरक्षित बनाने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने चाहिए.”

    Tags: CCTV, Delhi Commission for Women, Delhi MCD, Delhi news, Delhi police, Delhi School, MCD, Swati Maliwal

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर