Home /News /delhi-ncr /

तब्लीगी जमात: मौलाना साद के बेटे से हुई पूछताछ, हवाला मामले में दो को ED का नोटिस जारी

तब्लीगी जमात: मौलाना साद के बेटे से हुई पूछताछ, हवाला मामले में दो को ED का नोटिस जारी

तबलीगी जमात का प्रमुख है मौलाना साद.

तबलीगी जमात का प्रमुख है मौलाना साद.

मौलाना साद (Maulana Saad) के बेटे सईद से दो घंटे तक पूछताछ की गई. यह पूछताछ क्राइम ब्रांच की ओर से की गई. ऐसा बताया जा रहा है कि तब्लीगी जमात (Tablighi Jamaat) से जुड़े मौलाना साद के सभी काम उनका यही बेटा देखता है.

नई दिल्ली. मंगलवार को मौलाना साद (Maulana Saad) के बेटे सईद से दो घंटे तक पूछताछ की गई. यह पूछताछ क्राइम ब्रांच की ओर से की गई. ऐसा बताया जा रहा है कि तब्लीगी जमात (Tablighi Jamaat) से जुड़े मौलाना साद के सभी काम उनका यही बेटा देखता है. लेकिन साद से अभी तक क्राइम ब्रांच कोई बातचीत नहीं कर सकी है. वहीं दूसरी ओर ईडी (ED) ने मरकज़ (Markaz) के एक ऐसे अहम सदस्य को नोटिस भेजा है जिस पर जमात के रुपयों को इधर से उधर कराने का आरोप है. यह मरकज़ की इंतजा़मिया कमेटी में भी बताया जा रहा है. दूसरा एक कथित हवाला ऑपरेटर (Hawala operator) है. गौरतलब है कि क्राइम ब्रांच मौलाना साद को भी कई नोटिज जारी कर चुकी है.

जमात के 9 लोगों से पूछताछ कर चुकी है ED

हाल ही में ईडी ने दो लोगों को हवाला की रकम के संबंध में नोटिस भेजा है. इसमे एक कथित हवाला ऑपरेटर है. यह हवाला की रकम को इधर से उधर करता है. दूसरा जमात का ही सदस्य है. इस पर जमात से जुड़े रुपयों के लेन-देन को लेकर गंभीर आरोप लग रहे हैं. हालांकि ईडी दोनों को ही नोटिस भेज चुकी है.

ईडी का कहना है कि दोनों ही लोगों के वकील ने उनसे संपर्क किया है. साथ ही बताया है कि अभी वो लोग ईडी के सामने पेश नहीं हो सकते हैं. इससे पहले ईडी ने जमात से जुड़े 9 लोगों से पूछताछ की थी. गौरतलब रहे कि एक बैंक मैनेजर के बयान सामने आने के बाद ईडी इस मामले में सक्रिय हुई थी. इसी बैंक में मरकज़ का बैंक अकाउंट बताया जा रहा है.

यह था बैंक मैनेजर का आरोप

तबलीगी जमात के मरकज़ में होने वाले कार्यक्रम से पहले मौलाना साद के बैंक अकाउंट में विदेशों से आने वाली रकम की ट्रांजेक्शन बढ़ गई थी. इस मामले में जांच कर रही क्राइम ब्रांच ने यह खुलासा किया था. यह अकाउंट दिल्ली की ही एक बैंक का है.

इसके चलते बैंक ने साद के सीए को बुलाकर पूछा भी था कि विदेशों से अचानक यह रुपया क्यों आ रहा है. साथ ही साद से मिलने की बात भी कही थी. लेकिन यह कहकर की साद बड़े आदमी हैं और वो ऐसे ही किसी से नहीं मिलते हैं. 31 मार्च को तो बैंक ने इस तरह के ट्रांजेक्शन पर रोक लगाने की हिदायत भी सीए को दी थी.

ये भी पढ़ें-

Lockdown में राजस्थान के फालना गांव से जुड़े हैं देशभर के 500 मासूमों की जिंदगी के तार

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के सुपर-30 में अब ऑनलाइन भी तैयार होंगे IAS-IPS

Tags: Bank, Crime Branch, Delhi police, ED, Markaz, Tablighi Jamaat

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर