Happy Eid-ul-Adha 2020: जामा मस्जिद में उमड़ी भीड़, मुख्तार अब्बास ने घर पर पढ़ी नमाज
Delhi-Ncr News in Hindi

Happy Eid-ul-Adha 2020: जामा मस्जिद में उमड़ी भीड़, मुख्तार अब्बास ने घर पर पढ़ी नमाज
उन्होंने कहा कि जिस तरह का कोरोना संकट आज पूरी दुनिया के सामने है उसकी वजह से इबादत तो हो रही है.

Happy Eid-ul-Adha 2020: केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने ईद-उल-अजहा की नमाज अपने घर पर ही अदा की. इस मौके पर उन्होंने बकरीद ईद-उल-अजहा की सभी देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 8:59 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. त्याग और समर्पण का पर्व ईद-उल-अजहा (Eid-ul-Adha) आज पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है. कई लोगों ने अपने-अपने घर पर तो कई लोगों ने मस्जिद जाकर नमाज अदा की. इसी कड़ी में दिल्ली की जामा मस्जिद (Jama Masjid) में आज सुबह से ही नमाजियों की भीड़ जुटनी शुरू हो  गई. लोगों ने जामा मस्जिद में ईद-उल-अजहा की नमाज अदा की. कोरोना वायरस (Corona virus) के चलते इस दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया. लोग दूरी बनाकर नमाज पढ़ते हुए दिखे.

जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस को देखते हुए जामा मस्जिद के पास काफी एहतियातन बरता गया. पुलिस ने जामा मस्जिद में प्रवेश करने से पहले ही गेट के बाहर हर नमाजियों की स्क्रीनिंग की. शरीर का तापमान सामान्य रहने के बाद मस्जिद में जाने की इजाजत दी जा रही थी. इस दौरान स्क्रीनिंग कराने के लिए भी लोग सोशल टिस्डेंसिंग का पालन करते हुए लाइन में खड़े थे.
वहीं, केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने ईद-उल-अजहा की नमाज अपने घर पर ही अदा की. इस मौके पर उन्होंने  बकरीद ईद-उल-अजहा की सभी देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि जिस तरह का कोरोना संकट आज पूरी दुनिया के सामने है उसकी वजह से इबादत तो हो रही है. लेकिन हिफाजत के साथ और इस इबादत में जुनून और जज़्बे में कमी नहीं है.

जमीयत उलेमा-ए-हिंद की अपील
हाल ही में देश में मुसलमानों के प्रमुख संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर मुस्लिम समुदाय से ईद-उल-अज़हा पर स्वास्थ्य मंत्रालय के सभी दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की थी. जमीयत के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा था कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मुसलमानों को सलाह दी जाती है कि एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर और स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए मस्जिद या घर पर ईद-उल-अज़हा की नमाज अदा करें.



मौलाना मदनी ने एक बयान में कहा, "अधिक उचित है कि सूरज निकलने के बीस मिनट के बाद छोटी नमाज़ और खुतबा अदा करके कुर्बानी कर ली जाए और गंदगी को इस तरह दफ्न किया जाए कि जिससे बदबू न फैले." जमीयत प्रमुख ने लोगों से प्रतिबंधित पशुओं की कुर्बानी नहीं करने की भी अपील की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading