Home /News /delhi-ncr /

Fact Check: क्‍या सच में वोट नहीं डालने पर आपके बैंक खाते से कट जाएंगे 350 रुपये?

Fact Check: क्‍या सच में वोट नहीं डालने पर आपके बैंक खाते से कट जाएंगे 350 रुपये?

पीआईबी ने पैसे कटने वाले मैसेज को फेक बताया है.

पीआईबी ने पैसे कटने वाले मैसेज को फेक बताया है.

Election Commission News: चुनाव आयोग के नाम पर पिछले कई दिनों से एक फेक न्‍यूज़ (Fake News) सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रही है. इसमें दावा किया जा रहा है कि वोट नहीं डालने पर आपके बैंक खाते से 350 रुपये कट जाएंगे. इस झूठी, अफवाह को लेकर दिल्‍ली चुनाव आयोग ने पुलिस में एफआरआर दर्ज कराई है. वहीं, दिल्ली पुलिस की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटजिक ऑपरेशन यूनिट ने जांच शुरू कर दी है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. सोशल मीडिया पर इन दिनों चुनाव आयोग (Election Commission News) के नाम पर एक फेक न्‍यूज़ फैलाई जा रही है. वाट्सऐप (Whatsapp) पर वायरल हो रहे इस मैसेज में लिखा है कि अगर आपने वोट नहीं दिया तो आपके बैंक खाते से 350 रुपये कट जाएगें. वहीं, मामला सामने आने के बाद दिल्‍ली के मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईओ) ने एफआईआर दर्ज कराई है. इसके बाद अब मामले की जांच दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने शुरू कर दी है.

    दरअसल, दिल्‍ली चुनाव आयोग ने 1 दिसंबर को इसकी शिकायत की है. इसमें बताया गया है कि सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल करते हुए फेक न्यूज फैलाई जा रही है कि चुनाव आयोग की तरफ से आदेश जारी किए गए हैं कि जो नागरिक वोट नहीं देगा, उसके बैंक अकाउंट से 350 रुपये कट जाएंगे, लेकिन चुनाव आयोग ने ऐसा कोई मैसेज जारी नहीं किया है. यह खबर फेक है.

    दिल्‍ली पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

    दिल्‍ली चुनाव आयोग की शिकायत पर दिल्ली पुलिस की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटजिक ऑपरेशन (IFSO) यूनिट ने जांच शुरू कर दी है. इस मामले में पुलिस आईपीसी की धारा 171G के तहत केस दर्ज किया है.

    क्या है वायरल मैसेज?

    फेक न्‍यूज़ में यह दावा किया जा रहा है कि 2024 लोकसभा चुनाव में जो मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल नहीं करेंगे, चुनाव आयोग उनके बैंक अकाउंट से 350 रुपये काट लेगा. इसके साथ मतदान न करने वालों के खिलाफ चुनाव आयोग द्वारा शिकंजा कसने का आदेश जारी करने की बात कही जा रही है. साथ ही दावा किया जा रहा है कि वोट नहीं डालने वालों की पहचान आधारकार्ड के जरिये होगी और फिर आधार कार्ड से लिंक उनके बैंक अकाउंट से ये पैसे काट लिए जाएंगे.

    यही नहीं, इसमें यह भी कहा गया है कि चुनाव आयोग ने पहले ही कोर्ट से मंजूरी ले ली है. वहीं, जो मतदाता वोट डालने नहीं आते हैं, उनके लिए की गई तैयारी पर आयोग की ओर से किया गया खर्च बेकार चला जाता है. इसकी भरपाई इस बार वोट न डालने वालों से की जाएगी.

    मैसेज फर्जीः PIB

    बहरहाल, पीआईबी (PIB) फैक्ट चेक के ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट से इस वायरल मैसेज को पूरी तरह से फर्जी बताया गया है. इसके साथ लिखा गया है कि चुनाव आयोग की ओर से ऐसा कोई फैसला नहीं लिया गया है और ऐसी भ्रामक खबरों को सोशल मीडिया पर शेयर ना करें.

    Tags: Central Election Commission, Delhi police, Election commission, Fact Check, State Election Commission

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर